भारत, पाकिस्तान में बाढ़ से 400 से ज़्यादा मौतें

इमेज कॉपीरइट EPA

भारत और पाकिस्तान में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 400 हो गई है और अभी भी कई इलाक़े पानी में डूबे हुए हैं.

समाचार एजेंसी एएफपी ने भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के जम्मू क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक राजेश कुमार के हवाले से कहा है कि मंगलवार को मरने वालों की संख्या 200 हो गई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार जम्मू-कश्मीर के कम से कम चार लाख लोग लोग प्रभावित हुए हैं.

बीबीसी संवाददाता फ़ैसल मोहम्मद अली के मुताबिक इलाक़े के 2500 गांव प्रभावित हैं और 450 पूरे तरह से पानी में डूबे हुए हैं.

इस क्षेत्र में 16 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं लेकिन हालात गंभीर बने हुए हैं.

भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर में बाढ़ से बने हालात:

एएफ़पी के मुताबिक जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक का कहना था, ''कश्मीर घाटी में हालात बेहद गंभीर हैं. मरने वालों की संख्या 200 तक हो गई है. मुख्य हाईवे अभी भी कटा हुआ है लेकिन बाकी सड़कों को ठीक कर लिया गया है.''

समाचार एजेंसी पीटीआई ने कश्मीर के डिविज़नल कमिश्नर राहुल कंसल के हवाले से खबर दी है कि जलमग्न क्षेत्रों में नौकाओं की कमी पड़ गई है

कंसल का कहना था, '' दिल्ली से 100 नौकाएं मंगाई गई हैं जो कभी भी यहां पहुंच सकती हैं. हम ये नहीं कह सकते कि कितने लोग फंसे हुए हैं लेकिन अभी भी कई इलाक़ों में गले तक पानी है.''

इमेज कॉपीरइट EPA

उधर पाकिस्तान से मिल रही ख़बरों में बताया जा रहा है कि वहां मरने वालों की संख्या 206 हो गई है.

जम्मू से बीबीसी संवाददाता फ़ैसल मोहम्मद अली ने बताया है कि जिन इलाक़ों से संपर्क कटा हुआ है उसे बहाल करने के लिए फ़ोन लाइन्स पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है और वीसैट सिस्टम लगाए जा रहे हैं.

जम्मू शहर के भी कई हिस्से एक दूसरे से कटे हुए हैं जबकि जम्मू का श्रीनगर और अन्य इलाक़ों से भी संपर्क नहीं है.

जम्मू श्रीनगर नेशनल हाईवे भी फ़िलहाल बंद है और इन इलाक़ों में राहत सहायता सेना की मदद से चलाई जा रही है.

श्रीनगर की तीन लाख आबादी प्रभावित

सेना और एयरफ़ोर्स के हेलीकॉप्टर भी मदद में जुटे हैं. सेना की 250 टुकड़ियां भी राहत कार्य में लगी हैं.

भारत प्रशासित जम्मू और कश्मीर को मिलाकर करीब 2500 गांव प्रभावित हैं जिसमें से 450 गांव पूरी तरह डूब गए हैं.

सबसे अधिक प्रभावित वो इलाक़े हैं जो झेलम नदी के किनारे पर बसे हुए थे.

श्रीनगर में हवाई अड्डे से बाहर निकलना अभी भी संभव नही है जबकि सड़क मार्ग क्षतिग्रस्त पड़े हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

श्रीनगर की नौ लाख की आबादी में से 30 प्रतिशत लोग बुरी तरह प्रभावित हैं.

इन इलाक़ों में अब जल स्तर घटने लगा है और मौसम विभाग ने कहा है कि इस क्षेत्र में अगले तीन दिन तक बारिश नहीं होगी.

हालांकि बारिश के बिना भी लोग अपने घरों में नहीं जा पा रहे हैं क्योंकि अधिकतर घरों मे मलबा जमा हो गया है.

पाकिस्तान में भी भारी तबाही

पड़ोसी देश पाकिस्तान के भी कई इलाक़े बाढ़ की चपेट में हैं.

बीबीसी संवाददाता एंड्र्यू नार्थ ने बताया है कि पाकिस्तान में बाढ़ से 200 से अधिक लोग मारे गए हैं.

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में 130 से अधिक और लगभग 70 लोग पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर और अन्य जगहों में मारे गए हैं.

पाकिस्तान में अब सबसे बड़ी चिंता भारत में आई बाढ़ से है क्योंकि भारत से पाकिस्तान को जाने वाली नदियों का पानी सीमावर्ती इलाक़ों में फैल रही है.

इन इलाकों में हज़ारों घर तबाह हो गए हैं और सैकड़ों एकड़ खेतों में पानी भर गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार