केरल के बार मालिकों को फ़ौरी राहत

सुप्रीम कोर्ट इमेज कॉपीरइट AFP

उच्चतम न्यायालय ने केरल के बार मालिकों को फ़ौरी राहत देते हुए उन्हें 30 सितंबर तक अपना कामकाज जारी रखने की अनुमति दे दी है.

न्यायालय ने केरल सरकार को 30 सितंबर तक बार के लाइसेंस रद्द नहीं करने को कहा है.

न्यायालय ने साथ ही केरल उच्च न्यायालय को बार मालिकों की याचिका पर जल्दी सुनवाई करने को कहा है.

केरल सरकार ने 12 सितंबर से होटलों में मौजूद 312 बारों को बंद करने का फ़ैसला किया था जिसे बार मालिकों ने चुनौती है.

शराब पर प्रतिबंध

केरल सरकार ने घोषणा की थी कि वो राज्य में अगले दस साल में शराब को पूरी तरह प्रतिबंधित करना चाहती है.

इस नीति के तहत होटलों से जुड़े 312 बारों को ज़रूरी नोटिस जारी किया गया था और उन्हें बार बंद करने के लिए 12 सितंबर तक का समय दिया था.

केरल सरकार ने कहा था कि दो अक्तूबर को सरकारी निगम द्वारा चलाई जा रही दुकानों में से 39 को बंद कर दिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे सरकार को नौ हज़ार करोड़ रुपए के राजस्व का घाटा होगा लेकिन सरकार का कहना है कि वह इसके लिए कोई तरकीब निकालेगी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार