फ़र्ज़ी मुठभेड़ मामले में वंज़ारा को ज़मानत

इमेज कॉपीरइट PTI

गुजरात के सोहराबुद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी मुठभेड़ मामले में वहाँ के पूर्व पुलिस अधिकारी डीजी वंज़ारा को ज़मानत मिल गई है.

डीजी वंज़ारा गुजरात के पुलिस महानिदेशक रह चुके हैं और सोहराबुद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी मुठभेड़ मामले में वह कुछ वर्षों से जेल में थे.

मामला बंबई हाई कोर्ट में था और कोर्ट ने उन्हें ज़मानत दे दी है.

उल्लेखनीय है कि इस मामले में कुछ और पुलिस वालों पर भी आरोप था लेकिन वे सभी अधिकारी फिलहाल ज़मानत पर हैं.

अभी जेल से बाहर नहीं

वंज़ारा के ख़िलाफ़ सीबीआई ने मामला दायर किया था.

वकील विनोद कुमार ने टीवी चैनलों को जानकारी देते हुए कहा कि वंज़ारा को इस आधार पर ज़मानत दी गई कि वह सात साल से जेल में हैं और अब भी मामले की सुनवाई नहीं हुई है इसलिए उन्हें लंबे समय तक जेल में रखा नहीं जा सकता.

इससे पहले वंज़ारा की ज़मानत याचिका को 2007 में गुजरात हाई कोर्ट ने ख़ारिज किया था.

हालांकि वंज़ारा फ़िलहाल जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे क्योंकि उन पर इशरत जहां फ़र्ज़ी मुठभेड़ मामला भी चल रहा है और उस मामले में उन्हें ज़मानत नहीं मिली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार