जब हनुमान जी के नाम जारी हुआ आधार कार्ड

  • 12 सितंबर 2014
इमेज कॉपीरइट Abha Sharma

हिंदुओं के आराध्य देव हनुमान को उनके भक्त तो देश के अनगिनत मंदिरों में पहचान लेते हैं मगर प्रशासन की मानें तो वह राजस्थान में ही रहते हैं.

दरअसल प्रशासन ने उनके नाम से एक आधार कार्ड जारी कर दिया है. इसमें उनका पता है: वार्ड नंबर 06, पंचायत समिति के पास, रामगढ़, सीकर, दांतारामगढ़, राजस्थान—332703.

आधार कार्ड नंबर 2094 7051 9541 पर हनुमानजी की तस्वीर है. इसमें उनके पिता का नाम पवनजी लिखा गया है.

आधार कार्ड सामान्य डाक से बाँटे जाते हैं.

डाकिए की परेशानी

इमेज कॉपीरइट Abha Sharma

इसलिए यह कार्ड स्थानीय डाकिए के पास पहुंचा. जब दो-तीन दिन की तलाश के बाद भी सफलता नहीं मिली, तो उन्हें लगा लिफ़ाफ़े पर लिखा पता शायद अधूरा है.

पूरा पता जानने को जब लिफ़ाफ़ा खोला, तो अंदर हनुमान की तस्वीर वाला आधार कार्ड निकला.

इस पर एक मोबाइल नंबर था, जिसे मिलाने पर वह बंद मिला.

उपडाकपाल गोगराज बाजिया ने बीबीसी को बताया कि इस आधार कार्ड को आगे की कार्रवाई के लिए सीकर अधिशासक पोस्ट ऑफ़िस भेजा गया है जहां से इसे बंगलौर भेजा जाएगा.

डाकिए हीरालाल सैनी ने हनुमानजी नाम के एक स्थानीय निवासी से बात कर पते की पुष्टि करने की कोशिश की, मगर उस व्यक्ति ने यह कहकर इसे लौटा दिया कि यह कार्ड उनका नहीं है.

ऑपरेटर पर कार्रवाई

माना जा रहा है कि कार्ड बनाने का काम जिस कंपनी को सौंपा गया, उसके किसी कर्मचारी ने संभवतः यह शरारत की होगी.

उधर, बंगलौर में आधार कार्ड जारी करने वाले संगठन यूआईडीएआई के उप महानिदेशक अशोक दलवई ने बीबीसी को बताया, "ऑपरेटर ने जान-बूझकर यह गड़बड़ी की है. इस ऑपरेटर को हटाया जाएगा और इस काम को अंजाम दे रही एजेंसी पर कार्रवाई होगी."

दलवई का कहना है कि ऐसी घटनाएं बेहद कम हैं और इतने बड़े पैमाने पर चल रहे काम के मुक़ाबले नगण्य हैं.

(बंगलौर से जानकारी: इमरान क़ुरैशी)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार