अल-क़ायदा सीडी की जांच, भर्ती की सूचना नहीं: राजनाथ

राजनाथ सिंह इमेज कॉपीरइट AFP

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि ज़वाहिरी की अल क़ायदा की सीडी की अभी जांच हो रही है और भारत से भर्ती की कोई जानकारी नहीं है.

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों आई अल क़ायदा की सीडी की प्रमाणिकता की जांच केंद्रीय एजंसिया कर रही हैं.

संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए जब उनसे 'लव जिहाद' पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा पहले मुझे ये बताएँ कि ये 'लव जिहाद' क्या है?

'सभी मुसलमान संगठनों ने निंदा की'

हाल में आई एक सीडी में अल-कायदा नेता जवाहिरी ने अपने चरमपंथी संगठन की भारतीय उपमहाद्वीप में शाखा खोलने की घोषणा की थी.

अपने 55 मिनट के वीडियो संदेश में ज़वाहिरी ने कहा कि अल क़ायदा की ये शाखा क्षेत्र में मुस्लिम आबादी को बाँटने वाली बनावटी सीमाओं को नष्ट कर देगी.

इसी के साथ राजनाथ सिंह ने कहा कि सीरिया और इराक़ में सक्रिय इस्लामी चरमपंथियों के संगठन 'इस्लामिक स्टेट' की सभी भारतीय मुस्लिम संगठनों ने निंदा की है.

सिमी पर प्रतिबंध

इसके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) पर लगे प्रतिबंध को अगले पांच साल के लिए बढ़ा दिया गया है.

राजनाथ सिंह ने यह जानकारी शुक्रवार को गृह मंत्रालय के सौ दिन के कामकाज का ब्योरा देने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में दी.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने माओवाद, पूर्वोत्तर और जम्मू कश्मीर के आंतकवाद से निपटने के लिए व्यापक रणनीतियां बनाई हैं.

उन्होंने कहा कि माओवाद से निपटने की रणनीति को आज अंतिम रूप दिया जाएगा और उसकी जल्द घोषणा की जाएगी.

दिल्ली में सरकार बनाने के मुद्दे पर गृह मंत्री ने कहा कि ये फ़ैसला उपराज्यपाल को करना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार