'शाकाहारी ईद' की अपील पर भड़के लोग

पेटा इमेज कॉपीरइट S Niazi
Image caption पेटा की सदस्य बेनज़ीर को हरे कपड़ों में देखा जा सकता है जबकि पुलिस लोगों को नियंत्रित कर रही है

जानवरों के अधिकार के लिए सक्रिय संस्था पेटा (पीपुल फ़ॉर दि एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ़ एनिमल्स) के सदस्यों को भोपाल में मुस्लिम समुदाय के ग़ुस्से का सामना करना पड़ा.

दरअसल संगठन की एक सदस्य बेनज़ीर सुरैया शहर के ताजुल मस्जिद इलाक़े में ईद को शाकाहारी तरह से मनाने का संदेश दे रही थीं.

वह लोगों से अपील कर रही थीं कि मांसाहारी खाना छोड़ शाकाहार अपनाएं. यही नहीं, तब वो पत्तों से बना बुरका पहने हुई थीं.

लेकिन स्थानीय लोगों ने उनका ज़बरदस्त विरोध किया. मुस्लिम समुदाय के मुताबिक़ ईद पर बकरे की क़ुरबानी का विरोध करने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है.

'मज़हब में हस्तक्षेप'

इमेज कॉपीरइट S Niazi
Image caption मुस्लिम समुदाय के मुताबिक़ पेटा, उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचा रहा है.

उग्र भीड़ ने बेनज़ीर पर हमला करने की भी कोशिश की लेकिन वहां पर मौजूद पुलिस ने उन्हें रोक दिया.

विरोध प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे शाहिद अली ने कहा, "जब हम किसी के मज़हब के ख़िलाफ़ नहीं बोलते है तो किसी को हमारे मज़हब में हस्तक्षेप करने का कोई हक़ नहीं है.”

कुछ लोगों का कहना था कि प्रशासन ने मुस्लिम बहुल ताजुल मस्जिद इलाक़े में पेटा को ऐसे प्रदर्शन की इजाज़त क्यों दी?

पेटा इंडिया की सीईओ पूर्वा जोशीपुरा ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा, "ये शर्मनाक है कि हमारे सदस्य जो हिंसा को रोकने के लिये काम कर रहे है उन्हें ही हिंसा का सामना करना पड़ा.”

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार