मंगलयान का मंगल से मिलन: प्रधानमंत्री

  • 24 सितंबर 2014
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट epa

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के मंगलयान के मंगल की कक्षा में स्थापित होने पर कहा है कि मंगलयान का मंगल से मिलन हो गया है.

मंगल को 'मॉम' मिल गई है. प्रधानमंत्री मंगलयान के सफ़र के इस अहम पड़ाव के समय बंगलोर में इसरों के सेंटर में मौजूद थे.

वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "जिस समय इस मिशन का नाम मॉम बना, उसी समय मुझे पूरा विश्वास हो गया था कि 'मॉम' कभी निराश नहीं करती है.'

उन्होंने इस सफलता पर देशवासियों को बधाई देते हुए कहा,''हमारे वैज्ञानिकों ने पहले प्रयास में ही यह सफलता हासिल की है. हमने इतिहास बनाया है. मैं इसरो के वैज्ञानिको और देशवासियों को बधाई देता हूं."

वैज्ञानिकों का पुरुषार्थ

मोदी ने कहा, "यह सफलतावैज्ञानिको के पुरुषार्थ की वजह से मिली है. मैं उनका अभिनंदन करता हूं. इस सफलता के लिए हम उनके आभारी हैं."

उन्होंने कहा कि दुनिया में इसमें सबको सफलता नहीं मिली. पहली बार में तो किसी को भी नहीं मिली है. मंगल पर पर अब तक दुनिया की केवल तीन एजेंसियों ही पहुंची है. इसलिए हमें अपने वैज्ञानिकों को नाज़ है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह मंगल यात्रा हमें और मंगल करने की प्रेरणा देती रहेगी. उन्होंने कहा कि देश के हर स्कूल में इस सफतला के लिए वैज्ञानिकों को धन्यवाद दिया जाए.

मोदी ने बताया कि उन्होंने तय कर लिया था कि अगर मिशन विफल रहता है तो ज़िम्मेदारी उनकी होगी.

उन्होंने कहा कि जब काम मंगल हो तो मंगल की यात्रा भी मंगल होती है.

मोदी ने ये भी कहा कि किसी क्रिकेट प्रतियोगिता में मिली जीत से ये कामयाबी हज़ारों गुना बड़ी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार