मोदी का 'मेक इन इंडिया': 10 ख़ास बातें

मेक इन इंडिया का लोगो इमेज कॉपीरइट makeininda.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में 'मेक इन इंडिया' अभियान की शुरुआत की. इस अवसर पर उनके भाषण की 10 प्रमुख बातें.

  1. मैं नहीं चाहता कि किसी उद्योग या उद्योगपति को देश छोड़कर जाना पड़े.हम अपनी सरकार के छोटे से कार्यकाल में यह मानसिकता बदल चुके हैं.
  2. सरकार का मंत्र है कि उस पर हर देशवासी भरोसा करे. प्रधानमंत्री ने कॉरपोरेट गवर्नेंस को ज़रूरी बताया.
  3. संसद की चहारदीवारी के बाहर भी देशवासियों के मन को जगाकर परिवर्तन लाया जा सकता है.
  4. एफ़डीआई एक तरफ़ जहाँ देशवासियों के लिए एक ज़िम्मेदारी है, वहीं विदेशी उद्यमियों के लिए यह एक अवसर है.
  5. प्रधानमंत्री ने एफ़डीआई की एक नई परिभाषा देते हुए कहा, फ़र्स्ट डेवेलप इंडिया.
  6. दुनिया में व्यापार के माहौल के मामले में भारत का स्थान 135 पर हैं. सरकार अपने नियमों में खुलापन लाए तो हम 50वें नंबर पर आ सकते हैं.
  7. हमें अपने उत्पादों को कॉस्ट इफ़ेक्टिव बनाने के साथ-साथ अच्छे ख़रीददार की भी ज़रूरत होगी.
  8. स्किल डेवेलपमेंट के लिए पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप का मॉडल अपनाना होगा.
  9. हमारी 65 फ़ीसदी जनसंख्या 35 साल से नीचे के लोगों की है. भारत के नौजवान पर कोई सवाल नहीं उठा सकता है. हमारे पास टैलेंटेड और सामर्थ्यवान मैन पॉवर है.
  10. सरकार, उद्योगपति, शिक्षाविदों और नौजवानों की सोच में एकरूपता लाने की ज़रूरत है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार