वडोदरा: 200 से अधिक लोग हिरासत में

  • 29 सितंबर 2014
इमेज कॉपीरइट AFP

गुजरात सरकार ने वडोदरा में सांप्रदायिक तनाव से निपटने के लिए ऐहतियातन कई लोगों को गिरफ़्तार किया है. साथ ही मुंह ढंक कर बाइक या स्कूटर चलाने पर रोक लगा दी है.

वडोदरा के पुलिस आयुक्त ई राधाकृष्ण ने बताया कि 200 से अधिक लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार या हिरासत में लिया है.

वडोदरा में पिछले सप्ताह एक फेसबुक पोस्ट की वजह से सांप्रदायिक तनाव भड़क उठा था. पुराने शहर इलाक़े में कई जगह पर पथराव और समूह टकराव की घटनाओं के बाद पुलिस ने ये गिरफ़्तारियां की हैं.

एक आदमी की चाकू मार कर हत्या करने की भी कोशिश की गयी थी.

शहर में राज्य रिज़र्व पुलिस और रैपिड एक्शन फ़ोर्स के जवानों को तैनात कर दिया गया है.

एसएमएस और व्हाट्सऐप पर प्रतिबंध

इसके अलावा हालात बिगड़ने से रोकने के लिए पुलिस ने वड़ोदरा में एसएमएस और इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है.

Image caption वड़ोदरा में इंटरनेट और एसएमएस पर भी प्रतिबंध है.

रविवार को भी कई इलाक़ों में पथराव के बाद पुलिस को आंसू गैस और गोलियों का करना पड़ा था.

राज्य के गृह मंत्री नितिन पटेल ने बीबीसी को बताया, "हालात अभी नियंत्रण में हैं लेकिन हम कोई मौका नहीं देना चाहते और इंटरनेट सुविधा के साथ हमने शहर में मुंह ढंक कर बाइक चलाने वालों पर भी रोक लगा दी है."

एक पुलिस अफसर के मुताबिक पिछले एक महीने से शहर में तनाव के आसार नज़र आ रहे थे.

वडोदरा में उपचुनाव से पहले ही शहर में लव जिहाद को लेकर पत्रिका बाँटी जा रही थी और तभी से शहर में तनाव था.

पिछले दिनों एक फेसबुक पोस्ट पर कुछ लोगों ने एक धर्म के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक बातें पोस्ट कीं, जिन्हें लेकर हिंसा भड़क उठी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार