मोदी का क़रीबी रहा अफ़सर गिरफ़्तार

  • 30 सितंबर 2014
प्रदीप शर्मा
Image caption प्रदीप शर्मा ने मोदी और अमित शाह पर कई आरोप लगाए थे.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कई आरोप लगाने वाले और भ्रष्टाचार के कई मामलों में फंसे निलंबित आईएएस अफ़सर प्रदीप शर्मा को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

शर्मा को गुजरात की राजधानी गांधीनगर में उनके घर से ही गिरफ़्तार किया गया.

उनकी गिरफ़्तारी गुजरात एंटी करप्शन ब्यूरो ने की है.

शर्मा पर एक निजी कंपनी को ज़मीन देने और और अन्य मदद करने का आरोप लगा है. यह मामला 2003 का है जब शर्मा भुज के कलेक्टर थे. वे पहले भी 2010 में गिरफ़्तार हुए थे.

'मोदी पर आरोप'

गुजरात एसीबी के निदेशक आशीष भाटिया ने बीबीसी हिंदी को बताया, "शर्मा पर आरोप है की उन्होंने वेल्सपन ग्रुप को ज़मीनी क़ीमत का सिर्फ़ एक चौथाई लेकर कच्छ में ज़मीन दी थी. इसी मामले में उन्हें गिरफ़्तार किया गया है."

कभी गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़ास रहे प्रदीप शर्मा ने उन पर कई आरोप लगाए थे. शर्मा ने कहा था कि नरेंद्र मोदी ने एक युवती की पुलिस से जासूसी करवाई थी.

हालाँकि कि भाजपा ने इस पर सफ़ाई देते हुए कहा था कि युवती के पिता के आग्रह पर, उन्हीं की सुरक्षा के लिए पुलिस उन पर नज़र रख रही थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

शर्मा के भाई आईपीएस अफसर कुलदीप शर्मा ने गुजरात के पूर्व गृह मंत्री और मौजूदा बीजेपी प्रमुख अमित शाह पर भी आरोप लगाया था कि उन्होंने उनसे 2002 के दंगो के वक़्त दंगाईयो के प्रति नरमी बरतने को कहा था.

इसी मामले में पिछले हफ़्ते प्रवर्तन निदेशालय ने प्रदीप शर्मा की एक करोड़ रुपये मूल्य की सम्पति, उनकी 0.71 हेक्टेयर ज़मीन और उनके गांधीनगर वाले बंगले का 35% हिस्सा जब्त किया था.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार