जयललिता की ज़मानत पर सुनवाई कल

इमेज कॉपीरइट Other

कर्नाटक उच्च न्यायालय की विशेष बेंच बुधवार को तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की ज़मानत याचिका पर सुनवाई करेगी.

कर्नाटक के विशेष सत्र न्यायलय ने जयललिता को आय से अधिक संपत्ति जमा करने के आरोप में दोषी करार देते हुए चार साल की सज़ा सुनाई है.

जयललिता ने उच्च न्यायालय में इस फ़ैसले को चुनौती दी है.

जयललिता की कानूनी टीम के वरिष्ठ वकील हशमत पाशा के अनुरोध पर उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीएच वाघेला ने विशेष बेंच का गठन किया है. विशेष बेंच की अध्यक्षता जस्टिस रत्नाकला कर रही हैं.

विशेष बेंच में सुनवाई

इमेज कॉपीरइट AP

इससे पहले जस्टिस रत्नाकला ने जयललिता की ज़मानत की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए इसकी अगली सुनवाई 6 अक्तूबर तक टाल दी थी.

पाशा ने बीबीसी हिंदी को बताया, "ज़मानत की याचिका विशेष बेंच के सामने बुधवार को पेश होगी."

जयललिता के वकीलों ने पूर्व मुख्यमंत्री और उनके सहयोगी शशिकला, इलावारासी और सुधाकरण की ओर से उच्च न्यायालय के सामने चार अलग-अलग अपीलें दाखिल की हुई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार