मैरी कॉम ने जीता गोल्ड मेडल

कज़ाकिस्तान की मुक्केबाज़ झाइना शिरकविकोवा के साथ मैरी कॉम इमेज कॉपीरइट AP

इंचियोन में चल रहे 17वें एशियाई खेलों में 48-51 किलोग्राम भारवर्ग की स्पर्धा के फ़ाइनल में मैरी कॉम ने कज़ाकिस्तान की मुक्केबाज़ झाइना शिरकविकोवा को हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया है.

एशियाड में भारत का यह सातवां गोल्ड है. मैरी कॉम के कोच ने कहा कि इस पदक की उम्मीद थी और मैरी ने क्षमता के अनुरुप प्रदर्शन किया है.

पढ़िए इस मैच की पल पल की अपडेट जो नॉरिस प्रीतम ने हमें सीधे दिए इंचियोन से...

कैसे बढ़ा मैच - नॉरिस प्रीतम के लाइव अपडेट (नीचे से ऊपर पढ़ें)

मैरी ने रेफरी से हाथ मिलाया. कोच से गले मिली मैरी और अब वो उन भारतीयों के पास जा रही है जो स्टेडियम में बैठे हैं.

मैरी कॉम ने गोल्ड मेडल जीत लिया है. एशियाड में गोल्ड मेडल. मैरी नाच रही है.

नॉरिस प्रीतम: बस मैच का परिणाम आना है. दोनों मुक्केबाज़ खड़े

नॉरिस प्रीतम: मैरी ने दो लगातार बढ़िया पंच लगाए हैं. मैरी घुटने मोड़ के बैठ गई है. रेफरी ने उठाया. चौथा राउंड खतम.

नॉरिस प्रीतम: अगर मैरी ने एक दो अच्छे पंच नहीं मारे तो जीत मुश्किल क्योंकि कजाक बॉक्सर ने दो अच्छे पंच मारे हैं. कहीं ये ही डिसाइडिंग न हो जाए.

नॉरिस प्रीतम: अब चौथा राउंड शुरु होने वाला है. मैरी को एक दो सॉलिड पंच मारना चाहिए. तभी अंक मिलेंगे. चौथा राउंड शुरु

नॉरिस प्रीतम: कजाकस्तान की बॉक्सर ने नीचे से मारा जो गलत है. रेफरी ने चेतावनी दी. कई भारतीय और पहुंचे स्टेडियम में. लोग भर गए हैं भारत के आसपास. सारे भारतीय पत्रकार भी यहीं मौजूद.

नॉरिस प्रीतम: दोनों मुक्केबाज़ गुंथे हुए हैं. रेफरी ने दोनों को फिर से अलग किया है.

नॉरिस प्रीतम: बॉक्सिंग में पेट औऱ पसलियों पर मारने के ही अंक मिलते हैं. बाकी पीठ वगैरह पर मारने का कोई फायदा नहीं है.

नॉरिस प्रीतम: तीसरा राउंड शुरु. मैरी ने राइट पंच किया है. ज़बर्दस्त शोर. रेफरी ने दोनों मुक्केबाज़ों को अलग किया. मैरी का बढ़िया डिफेंस.

नॉरिस प्रीतम: मैरी के जीतने की उम्मीद लेकिन डर कि कहीं दूसरे मुक्केबाजों वाली हालत न हो. अंपायरिंग को लेकर विवाद रहा है कुछ मैचों में.

नॉरिस प्रीतम: दूसरा राउंड खत्म. मैच बराबरी पर. पूरे स्टेडियम में मैरी मैरी की गूंज सुनाई पड़ रही है.

नॉरिस प्रीतम: मैरी के पति भी बॉक्सिंग रिंग के पास ही है. नॉर्थ ईस्ट के कई लोग भी हैं यहां. अभी तक बाउट क्लोज़ लग रहा है.

नॉरिस प्रीतम: दोनों मुक्केबाज़ जूझ गए. रेफरी ने चेतावनी दी कि दोनों अटैक करें. दोनों मुक्केबाज़ बराबरी पर इस समय. भारतीय लोगों की संख्या बहुत अधिक स्टेडियम में शोर गुल. लगता है कि इंडिया में ही बैठा हूं.

नॉरिस प्रीतम: दूसरे राउंड में मैरी ने दो बढ़िया पंच मारे हैं. लेफ्ट राइट पंच मारे हैं. जबर्दस्त पंच मैरी का

नॉरिस प्रीतम: पहला राउंड खत्म. नए नियमों के तहत प्वाइंट नहीं बताए जाते हैं...लेकिन लगता है कि पहला राउंड बराबर ही रहा है.

नॉरिस प्रीतम: मैरी मैच से पहले भारतीय लोगों के साथ फोटो सेशन में थी. मुझसे बात हुई तो बहुत आत्मविश्वास में लगी.

नॉरिस प्रीतम: पहले मिनट में मैरी कॉम डिफेंसिव है. मैरी आम तौर पर पहले कुछ मिनटों में जज करती हैं विरोधी को.

मैरी कॉम लाल ड्रेस में है और झाइना नीले ड्रेस में हैं. मैरी विश्वास से भरी हुई दिख रही हैं.

सोल में रहने वाले भारतीय बड़ी संख्या में मुकाबला देखने पहुंचे हैं.

इंचियोन में चल रहे 17वें एशियाई खेलों के फ़ाइनल में मैरी कॉम का मुक़ाबला कज़ाकिस्तान की मुक्केबाज़ झाइना शिरकविकोवा से हो रहा है.

इससे पहले बॉक्सिंग में शीर्ष के दो बॉक्सरों के न पहुंचने से भारतीय खेल प्रेमियों को काफी निराशा हुई थी.

भारतीय मुक्केबाज़ देवेंद्रो सिंह और सरिता देवी अंकों को लेकर हुए विवाद की वजह से फ़ाइनल में जगह नहीं बना पाए थे.

सेमीफ़ाइल में मैरी कॉम ने वियतनाम की ली थी वैंग को 3-0 से मात दी थी.

फ़ाइनल मुक़ाबले से पहले मैरी कॉम ने बीबीसी से कहा था, "हर किसी को पता है और लोग मुझे जानते हैं कि मैं कितने साल से खेल रही हूं और कितनी बार चैंपियन बनी हूं. मेरे ऊपर इतना दबाव नहीं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार