तट से टकराया हुदहुद, दो लोगों की मौत

चक्रवातीय तूफान हुदहुद इमेज कॉपीरइट AFP

बंगाल की खाड़ी में बना समुद्री तूफ़ान हुदहुद अब विशाखापत्तनम तट पर पहुंच चुका है.

विशाखापत्तनम के तटवर्ती इलाकों में तेज़ हवाओं के साथ बारिश हो रही है.

एनडीआरएफ के अनुसार श्रीकाकुलम और विशाखापत्तनम में पेड़ के नीचे दबने से दो लोगों की मौत हुई है.

विशेषज्ञों ने इस बात का अनुमान लगाया है कि तट से ज़मीनी इलाके में प्रवेश करते समय तूफ़ान की रफ्तार 195 किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है.

विशाखापत्तनम से मिली ताज़ा जानकारी के अनुसार वहां हवा की गति अभी तकरीबन 100 किलोमीटर प्रति घंटा है. शहर में कल रात से ही बिजली गुल है.

इधर ओडिशा के दक्षिणी तट में गंजाम ज़िले के गोपालपुर और बरहमपुर में भी तूफ़ान का असर देखने को मिल रहा है.

इस इलाके में हवा की गति करीब 70 किलोमीटर प्रति घंटा है और अगले कुछ घंटों में इसकी तीव्रता और बढ़ सकती है.

हुदहुद का असर

इमेज कॉपीरइट AFP

आंध्र प्रदेश और ओडिशा में अब तक क़रीब तीन लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुँचाया जा चुका है.

इनमें से ज़्यादातर लोग आंध्र के तटवर्ती इलाक़ों में रहने वाले हैं, जहाँ तूफ़ान का असर सबसे अधिक हो सकता है.

ओडिशा में अब तक लगभग 43 हज़ार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया जा चुका है.

मौसम विभाग का कहना है कि ज़मीनी इलाकों में प्रवेश करने के बाद भी हुदहुद का असर अगले छह घंटे तक ज़ारी रहेगा.

इससे आंध्र प्रदेश के पांच ज़िलों- पूर्व और पश्चिम गोदावरी, श्रीकाकुलम, विजयनगरम और विशाखापत्तनम और ओडिशा में गंजाम, गजपति, कोरापुट और मालकानगिरि ज़िलों में भीषण बारिश होने और तेज़ हवा चलने के आसार हैं.

बाढ़ की आशंका

इमेज कॉपीरइट EPA

ज़मीन पर प्रवेश के बाद तूफ़ान उत्तरी दिशा की ओर बढ़ेगा जिससे अगले 48 घंटों में दक्षिणी ओडिशा के आठ ज़िलों, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में भारी बारिश हो सकती है.

इससे ओडिशा की कई नदियों में बाढ़ की आशंका है.

विशाखापत्तनम के जिलाधिकारी डॉक्टर युवराज ने बीबीसी को बताया कि पूरे ज़िले में अलर्ट जारी किया गया है. 73 गांवों से क़रीब 40 हज़ार लोगों को राहत शिविरों में पहुँचाया गया है.

60 ट्रेनें रद्द

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा, "हमने एनडीआरएफ़ की टीमें बुलाई हैं. 12 जगहों पर एनडीआरएफ़ की छह टीमें तैनात की गई हैं. साथ ही अन्य 12 जगहों पर नौसेना की टीमें तैनात हैं. राहत कार्यों के लिए हमारे पास सेना की एक टुकड़ी भी है."

"हमने एनडीआरएफ़ की दो टीमें और मंगाई है. आपात स्थिति के लिए नौसेना के पांच हेलिकॉप्टरों को भी तैनात रखा गया है. हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं."

हैदराबाद से स्थानीय पत्रकार धनंजय ने बताया कि हुदहुद के कारण लगभग 60 ट्रेनें रद्द की गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार