'एक-दो भारतीय मुस्लिम ही आतंक में लिप्त'

प्रणब मुखर्जी इमेज कॉपीरइट EPA

भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि शायद ही कोई भारतीय मुसलमान आतंकवाद में लिप्त हो.

नॉर्वे की दो दिन की यात्रा पर गए प्रणब मुखर्जी ने ऑस्लो में ऐसा कहा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ उन्होंने कहा, "भारत की 15 करोड़ की मुस्लिम आबादी में एक या दो ही आतंकवाद में लिप्त होंगे. यह मामले भी दूसरे देशों से आ रहे हैं."

उन्होंने कहा, "भारत में घरेलू आतंकवादी गतिविधियां नगण्य हैं और जब भी ऐसी हरकतें नज़र आती हैं, हम कार्रवाई करते हैं."

'आतंकवाद अच्छा, न बुरा'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption भारत के अल्पसंख्यक समुदाय में मुस्लिमों की आबादी सबसे अधिक है

मुखर्जी ने कहा कि आतंकवाद का धर्म या सीमाओं के लिए कोई सम्मान नहीं है, कोई विचारधारा नहीं है.

मुखर्जी ने कहा, "किसी को यह नहीं कहना चाहिए कि 'ए' का आतंकवाद अच्छा है और 'बी' का आतंकवाद बुरा है. मेरे विचार से ऐसा वर्गीकरण बेमतलब है."

उन्होंने कहा था कि आतंकवाद को किसी रूप में नहीं बांटना चाहिए और यही इससे लड़ने का सबसे अच्छा तरीक़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार