अरविंद सुब्रमण्यन बने आर्थिक सलाहकार

अरविंद सुब्रामण्यन इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption दिल्ली में पत्रकारों के साथ बात करते हुए अरविंद सुब्रामण्यन

अमरीका के पीटरसन इंस्टीच्यूट फ़ॉर इंटरनेशनल इकोनॉमिक्स में सीनियर फ़ेलो अरविंद सुब्रमण्यन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुख्य आर्थिक सलाहकार बनाए गए हैं.

गुरुवार को उनके नाम पर मुहर लगा दी गई. सुब्रमण्यन की नियुक्ति तीन साल के लिए होगी.

रघुराम राजन के भारतीय रिज़र्व बैंक का गवर्नर बनाए जाने के बाद से यह स्थान रिक्त पड़ा था.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) में प्रमुख अर्थशास्त्री रहे रघुराम राजन के बाद सुब्रमण्यन दूसरे अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अर्थशास्त्री होंगे जिन्हें नीतिगत मामलों से जुड़ा अहम पद दिया गया है.

आइएमएफ़ में रघुराम राजन और अरविंद सुब्रमण्यन ने काफ़ी लंबे अर्से तक एक साथ काम किया है.

कौन हैं अरविंद सुब्रमण्यन?

दिल्ली के सेंट स्टीफ़ेंस कॉलेज से स्नातक करने के बाद उन्होंने आईआईएम, अहमदाबाद से एमबीए किया.

इसके बाद ब्रिटेन की ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से उन्होंने एम.फ़िल और डी.फ़िल की डिग्रियां हासिल कीं.

सुब्रमण्यन आईएमएफ़ के रिसर्च डिपार्टमेंट में सहायक निदेशक के पद पर रह चुके हैं. उन्हें भारत व चीन की अर्थव्यवस्था का विशेषज्ञ माना जाता है.

2011 में 'फ़ॉरेन पॉलिसी' मैगज़ीन ने सुब्रमण्यन को दुनिया के शीर्ष 100 ग्लोबल थिंकर्स में शुमार किया था.

वह हॉवर्ड यूनिवर्सिटी के केनेडी स्कूल ऑफ़ गवर्नमेंट और जॉन्स हॉपकिंस के स्कूल फ़ॉर एडवांस्ड इंटरनेशनल स्टडीज़ में पढ़ा भी चुके हैं.

एक अन्य फ़ैसले में सरकार ने एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में वित्त सचिव अरविंद मायाराम को वित्त मंत्रालय से हटाकर पर्यटन मंत्रालय में भेज दिया है.

मायाराम की जगह राजीव महर्षि को वित्त सचिव बनाया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार