'हर 10 में से 6 पुरुष पत्नी को पीटते हैं'

  • 10 नवंबर 2014
इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

भारत में प्रत्येक दस में छह पुरुष अपनी पत्नी या फिर महिला मित्र के साथ मार पीट करते हैं.

चौंकिए नहीं, यूनाइटेड नेशंस वर्ल्ड पापुलेशन फंड (यूएनएफपीए) और वाशिंगटन स्थित इंटरनेशनल सेंटर फॉर रिसर्च ऑन वीमेन के एक संयुक्त अध्ययन के दौरान दस में छह लोगों ने इस सच को स्वीकार किया है.

इस अध्ययन के दौरान भारत के सात राज्यों में 18 से 49 साल की उम्र के 9,205 पुरुष शामिल हुए.

इस रिपोर्ट में ये भी पाया गया है जिन पुरुषों ने अपने बचपने में भेदभाव का सामना किया था या फिर जिन्हें आर्थिक तंगहाली का सामना करना पड़ा वे महिलाओं के प्रति कहीं ज़्यादा हिंसक भाव रखते हैं.

अध्ययन के मुताबिक भेदभाव का सामना कर चुके पुरुष अपनी महिला साझेदार के साथ चार गुना ज़्यादा हिंसक रवैया अपनाते हैं.

इस अध्ययन में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, ओडिशा, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र को शामिल किया गया.

हिंसा का आम चलन

इमेज कॉपीरइट istock

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के मुताबिक 2013 में भारत में महिलाओं के प्रति जितने अपराध हुए, उनमें 38 फ़ीसदी महिलाएं अपने पति और उनके रिश्तेदारों के निर्दयता की शिकार हुईं थीं.

हालांकि एक हक़ीकत यह भी है कि ज़्यादातर महिलाएं सामाजिक लोक लाज के चलते हिंसा के मामले की पुलिस शिकायत दर्ज नहीं करातीं.

इस अध्ययन में 3,158 महिलाएं भी शामिल थीं और इनमें आधे से अधिक ने माना कि उन्हें अपने जीवन में हिंसा का सामना करना पड़ा है.

महिलाओं को ज़्यादातर शारीरिक हिंसा जिसमें, थप्पर मारना, धक्का देना, गला दबाना और जलाना का सामना करना पड़ता है. इसके अलावा इन्हें भावनात्मक, यौन और आर्थिक हिंसा का सामना भी करना पड़ता है.

इस अध्ययन में शामिल कई महिलाओं ने ये माना है कि पति-पत्नी के रिश्तों में ऐसी हिंसा आम बात है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए