महाराष्ट्र में विपक्ष में बैठेगी शिवसेना

  • 10 नवंबर 2014
इमेज कॉपीरइट PTI

अब यह साफ़ ज़ाहिर हो रहा है कि शिवसेना ने महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष में बैठने का फ़ैसला लिया है.

शिवसेना की प्रवक्ता नीलम घोरे ने बीबीसी हिंदी से बातचीत में इसकी पुष्टि की है.

सोमवार से शुरू हुई तीन दिवसीय विशेष बैठक में शिवसेना के विधायक विपक्ष वाली बेंच पर बैठे.

इसके बाद पार्टी ने विधानसभा में विपक्ष के नेता पद पर अपना दावा जताते हुए एकनाथ शिंदे का नाम प्रस्तावित किया है.

शिवसेना के सभी विधायक भगवा साफा पहने एक समूह में विधानसभा में आए और विपक्ष की बेंच पर बैठे.

इससे पहले शिवसेना के अनिल देसाई नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार के विस्तार में शपथ लेने नहीं पहुंचे थे.

शिवसेना छोड़ बीजेपी में आए सुरेश प्रभु को मंत्री बनाए जाने से भी दोनों दलों में दरार बढ़ने की आशंका है.

महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में शिवसेना 63 सीटों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. राज्य में आम चुनाव से ठीक पहले भाजपा-शिवसेना का 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया था.

हालांकि इसके बाद दोनों दलों के करीब आने की संभावना बनने लगी थी, लेकिन शिवसेना ने विधानसभा की विशेष बैठक से पहले साफ़ कहा था कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार का समर्थन तभी किया जाएगा जब सरकार राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से समर्थन नहीं ले.

शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी को बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा की हुई है.

भारतीय जनता पार्टी ने 122 विधायकों के साथ राज्य में सरकार बनाई है. देवेंद्र फड़णवीस के नेतृत्व वाली सरकार को 12 नवंबर को विधानसभा में बहुमत साबित करना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार