'रामपाल की तुलना ओसामा से करते हैं लोग'

इमेज कॉपीरइट AP

हरियाणा के बरवाला का सतलोक आश्रम और रामपाल अब किसी परिचय का मोहताज नहीं रहे.

रामपाल के हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद अदालत में पेश नहीं हुए जिसके आश्रम में मौजूद उनके समर्थकों ने हरियाणा पुलिस के साथ संघर्ष का रास्ता चुना. इसी के बाद पुलिस ने कार्रवाई शुरू की.

पुलिस की कार्रवाई के दौरान आश्रम से हज़ारों की संख्या में रामपाल के समर्थकों को हटाया गया.

इसमें कई तो दूसरे राज्यों से आए हुए थे. मसलन मनोज गोथवाल को ही लीजिए जो गुजरात से अपनी बहन, जीजा और भांजे के साथ आए हुए थे.

उन्होंने बताया, "रामपाल कहते हैं कि सब लोग एकसमान हैं और सबको एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए. मैं उनकी इस सीख को पसंद करता हूं."

इमेज कॉपीरइट PTI

पुलिस की कार्रवाई शुरू होते ही मनोज को ख़तरा महसूस हुआ और वे अपने परिवार के साथ आश्रम से बाहर निकल आए.

'ठग हैं बाबा'

मनोज पिछले एक साल से रामपल के भक्त बने थे. आगे वे रामपाल के भक्त बने रहेंगे या नहीं, इस सवाल पर वे कोई जवाब नहीं देते.

रामपाल के भले हज़ारों भक्त हों, लेकिन वे अपने बरवाला में बहुत लोकप्रिय नहीं हैं.

बरवाला में रेस्टोरेंट चला रहे कृष्ण कुमार रामपाल की तुलना अल क़ायदा के ओसामा बिन लादेन से करते हैं.

वे कहते हैं, "वे बिन लादेन की तरह हैं, जो भगवान के नाम पर हिंसा का सहारा लेते हैं."

सतलोक आश्रम के बगल में रहने वाले एक किसान के मुताबिक रामपाल ने स्थानीय लोगों के लिए कुछ भी नहीं किया.

इमेज कॉपीरइट epa

बानाराम नामक किसान कहते हैं, "वे एक ठग हैं. उन्होंने हमारे लिए कुछ नहीं किया."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार