'साध्वी ज्योति को हटाएँ, एफ़आईआर दर्ज हो'

साध्वी निरंजन इमेज कॉपीरइट PTI. Rajyasabha TV

मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के 'रामजादे' वाले बयान पर राजनीतिक घमासान छिड़ गया है.

राज्यसभा में सीपीएम सांसद सीताराम येचुरी ने कहा कि साध्वी की माफ़ी से मामला ख़त्म नहीं होता क्योंकि उनके ये मानने के बाद कि उन्होंने ये बयान दिया, उन पर आपराधिक मामला बनता है.

उन्होंने कहा कि साध्वी के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की जानी चाहिए और जब तक मामला नहीं सुलझता, उन्हें मंत्रिमंडल से हटाया जाना चाहिए.

उधर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि साध्वी के माफ़ी मानने के साथ ही मामला ख़त्म हो जाना चाहिए.

'पहली बार सांसद'

इमेज कॉपीरइट PTI. Rajyasabha TV

इस पर येचुरी और जेटली के बीच सदन में तीखी बहस भी हुई.

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी के आदर्शवाद पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा, "बीजेपी आदर्श की बात करती है- क्या यही इनके आदर्श हैं, मूल्य हैं?"

इमेज कॉपीरइट PTI. Rajyasabha TV

संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने साध्वी का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी ग़लती स्वीकार कर माफ़ी मांग ली है और इस मामले को यहीं ख़त्म कर देना चाहिए.

उन्होंने साध्वी निरंजन ज्योति के पहली बार सांसद बनने का हवाला भी दिया और उनके गरीब परिवार से होने का भी ज़िक्र किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार