'रामजादे' वाले बयान पर मांगी माफ़ी

साध्वी निरंजन ज्योति इमेज कॉपीरइट PIB

मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के अपशब्द के इस्तेमाल पर मंगलवार को संसद के दोनों सदनों में भारी हंगामा हुआ और कुछ देर के लिए संसद की कार्रवाई को स्थगित करना पड़ा.

साध्वी निरंजन ज्योति को केंद्र की मोदी सरकार ने अपने मंत्रिमंडल विस्तार में पिछले नौ नवंबर को राज्यमंत्री बनाया था.

साध्वी ने दिल्ली में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि सरकार 'रामजादों' की बनेगी और अपशब्द का इस्तेमाल किया था.

मंगलवार को संसद के दोनों सदनों में इस मामले को लेकर भारी हंगामा हुआ. विपक्षी पार्टियों ने बयान को तुरंत वापस लिए जाने की मांग की.

बयान का विरोध

समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती ने इस विवादास्पद बयान के लिए साध्वी के इस्तीफ़े की मांग की.

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption संसद में काफ़ी हंगामें के बाद साध्वी निरंजन ज्योति ने आख़िरकार माफी मांग ली.

संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा नेताओं को बोलते समय सावधानी बरतने को कहा.

बाद में सध्वी निरंजन ज्योति ने अपने बयान पर खेद जताया है और अपने शब्द वापस लेने और माफ़ी मांगने की बात मान ली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार