हाफ़िज़ सईद की नरेंद्र मोदी को चेतावनी

  • 6 दिसंबर 2014
हाफ़िज़ सईद इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान में जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफ़िज़ सईद ने लाहौर के मीनार-ए-पाकिस्तान पर एक बड़ी रैली के दौरान भारत को जिहाद की चेतावनी दी है.

हाफ़िज़ सईद ने कहा, "नरेंद्र मोदी को स्पष्ट होना चाहिए और कश्मीर मुद्दा सुलझाना चाहिए और अगर तुम इसे सुलझाने के लिए तैयार नहीं हो तो इंशाअल्लाह हम कश्मीर के लिए भारत के ख़िलाफ़ जिहाद करेंगे."

हाफ़िज़ सईद ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ को भी नसीहत दी.

हाफ़िज ने कहा, "नवाज़ शरीफ़ मैं तुम्हें अल्लाह का फ़ैसला सुनाता हूं. अगर मोदी कश्मीर मुद्दे पर वार्ता के लिए राज़ी न हों और संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों को न मानें, तो तुम आज़ादी के लिए लड़ने वालों की मदद करो. यह कश्मीर मुद्दे को सुलझाने का सरल और सीधा रास्ता है."

इमेज कॉपीरइट AFP

लाहौर में जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफ़िज़ सईद की रैली को भारत ने चरमपंथ की सार्वजनिक स्वीकारोक्ति कहा है.

भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि रैली "पाकिस्तान में एक राष्ट्रीय स्मारक पर हुई जहां बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात थे. अख़बारों में इसके विज्ञापन छपे. यह अमरीका द्वारा बहिष्कृत एक संगठन का आयोजन था."

प्रतिबंधित संगठन

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption भारत हाफ़िज़ सईद को मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड बताता रहा है.

अमरीका ने इसी साल जमात-उद-दावा को प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल किया था.

अकबरुद्दीन ने कहा, "रैली को उस व्यक्ति ने संबोधित किया जिसे संयुक्त राष्ट्र ने आतंकवादी घोषित कर रखा है."

भारत ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि रैली को पाकिस्तान का समर्थन आतंकवाद के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय मानदंडों का खुला उल्लंघन है.

इमेज कॉपीरइट AFP

रैली के लिए ट्रेनें उपलब्ध कराए जाने की ख़बरों पर टिप्पणी करते हुए अकबरउद्दीन ने कहा कि सरकार ने रैली के लिए रेल सेवा भी उपलब्ध करवाई.

मीनार-ए-पाकिस्तान पर हुई दो दिन की रैली में हज़ारों लोग शामिल हुए.

वांछित अपराधी

इमेज कॉपीरइट AFP

रैली में भाषण देने वाले हाफ़िज़ सईद भारत के मोस्ट वांटेड अपराधियों की सूची में शामिल हैं. भारत उन्हें 26/11 के मुंबई हमले का मास्टरमाइंड बताता रहा है.

सईद पर अमरीका ने भी 10 लाख डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है.

लेकिन पाकिस्तान हाफ़िज़ सईद पर लगे आरोपों को नकारता रहा है. पाकिस्तान का कहना है कि उन पर कोई मामला दर्ज नहीं है और वह पाकिस्तान में घूमने के लिए आज़ाद हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार