जंगल से 8 बेहद कमाल की तस्वीरें

केन कॉग ल्यू इमेज कॉपीरइट Kane Kong Lew

हाल ही में मुंबई में हुए सेंक्चुरी वाईल्डलाईफ़ फ़ोटोग्राफ़ी अवार्डस 2014 और भारत की वाईल्डलाईफ़ सेंक्चुरी और नेशनल पार्क्स में खींची गई तस्वीरों को प्रदर्शित किया गया.

देखिए वो तस्वीरें जिन्हें बेहतरीन आंका गया.

इमेज कॉपीरइट daanish shahstri

दानिश शास्त्री की जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में खींची इस तस्वीर को पहला स्थान मिला.

इमेज कॉपीरइट Keerthana Balaji

तमिलनाडु के अन्नामलाई रिज़र्व में खींची गई कीर्थना बालाजी की इस तस्वीर में एक हाथी लोमड़ियों के झुंड को दौड़ाता नज़र आ रहा है.

इमेज कॉपीरइट Balaji Loganathan

रणथंभौर के टाईगर रिज़र्व में बालाजी लोगानाथन की खींची इस तस्वीर को तीसरा स्थान मिला. अक्सर कौवों को इस तरह छोटे परिंदो का शिकार करते देखा जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Sachin Rai

राजस्थान के सवाई माधोपुर के रेगिस्तान में अपने बिल से झांकती एक जंगली लोमड़ी की इस अदा को अपने कैमरे में कैद किया सचिन राय ने.

इमेज कॉपीरइट Aditya Singh

आदित्य सिंह की रणथंभौर में खींची गई इस तस्वीर को ज्यूरी की ओर से स्पेशल मेंशन मिला क्योंकि एक मादा बाघ और शावक की ऐसी तस्वीरें खींचने का अनुभव बहुत ही कम मिल पाता है.

इमेज कॉपीरइट Kane Kong Lew

बांधवगढ़ के टाईगर रिज़र्व में केन कॉग ल्यू ने इस रंगबिरंगी मक्खी की तस्वीर को उस पल निकाला जब ये मक्खी पानी पर अपने पैर जमाए अपने प्रतिबिंब को निहार रही थी.

इमेज कॉपीरइट Sanjeet Mangat

जमीन पर, पंख फैलाते इस उल्लू को अपने लेंस से कैद किया संजीत मंगत ने. ये तस्वीर शोकालिया राजस्थान की है जहां उल्लू ख़ासी संख्या में होते हैं.

इमेज कॉपीरइट Kartik Bhat

कर्नाटक के कुद्रेमुख नेशनल पार्क में खींची इस तस्वीर में फ़ूड चेन का असली रूप सामने आ रहा है. हर परभक्षी एक बड़े परभक्षी का आहार है और यही सच्चाई भी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार