स्पाइसजेट की उड़ान बंद

स्पाइसजेट, हवाईजहाज़ इमेज कॉपीरइट AFP

भारत की एक एयरलाइंस स्पाइस जेट के नक़द भुगतान करने के बाद तेल कंपनियों ने बुधवार को उसे ईंधन की आपूर्ति शुरू कर दी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सार्वजनिक क्षेत्र की एक तेल कंपनी में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "हमने ईंधन की आपूर्ति बंद की ही नहीं थी. हमने कल (मंगलवार) दोपहर बाद तक उन्हें ईंधन की आपूर्ति की थी."

"उसके बाद वह ईंधन ख़रीदने आए ही नहीं इसलिए हमने उन्हें दिया भी नहीं. वह आज (बुधवार) दोपहर आए इसलिए हम आपूर्ति कर रहे हैं."

उन्होंने कहा कि स्पाइस जेट को छह महीने पहले ही 'पैसे दो और ले जाओ' की श्रेणी में डाल दिया गया था. इसका अर्थ यह है कि विमान कंपनी को तभी ईंधन आपूर्ति होती थी जब वह इसके लिए भुगतान करते थे.

'उधार की सीमा बढ़ी'

इमेज कॉपीरइट a

स्पाइस जेट रोज़ क़रीब 5.5 करोड़ रुपये का ईँधन भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) से ख़रीदा करता था लेकिन छह महीने पहले उसने हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) और रिलायंस इंडस्ट्रीज़ से भी कुछ ख़रीदना शुरू कर दिया.

लेकिन तबसे स्पाइसजेट के अपनी उडानों में कटौती करने और बेड़े में कमी करने के चलते यह उपभोग कम हो गया.

बुधवार सुबह भुगतान समस्या के चलते स्पाइसजेट का कोई भी विमान उड़ान नहीं भर पाया.

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने मंगलवार को कहा था कि एयरपोर्ट संचालकों को विमान कंपनियों को भुगतान के लिए 15 दिन का समय देने को कहा जाएगा और सरकारी तेल कंपनियों को भी 15 दिन का उधार देने को कहा जाएगा.

सूत्रों के अनुसार तेल कंपनियों ने लेटर ऑफ़ क्रेडिट या बैंक गारंटी के ज़रिए भुगतान सुरक्षित होने के बाद ही उधार की सीमा बढ़ाई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार