झारखंड: आखिरी दौर में 70 फीसदी मतदान

झारखंड विधानसभा चुनाव

झारखंड में विधानसभा चुनाव के अंतिम दौर में करीब 70.42 फीसदी मतदान हुआ है. ये आँकड़े चुनाव आयोग ने जारी किए हैं.

मतदान आमतौर पर शांति से गुज़र गया.

चुनाव आयोग का कहना है कि मतदान के आंकड़े आखिरी नहीं हैं और मुमकिन है कि इसमें थोड़ा बहुत सुधार हो.

अंतिम चरण में कुल 16 सीटों के लिए मतदान हुआ. शहरी इलाक़ों को छोड़ जंगल और दूरदराज के गांवों में सुरक्षा कारणों से मतदान का समय दोपहर तीन बजे तक ही रखा गया था. इन मतदान केंद्रों पर मतदान सुबह जल्दी शुरू कर दिया गया था.

सुबह 11 बजे तक 35 प्रतिशत मतदान हो गई थी.

इस चरण में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और विधानसभा अध्यक्ष शशांक शेखर भोक्ता सहित कुल 208 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे जिनमें 16 महिला प्रत्याशी हैं.

हेमंत सोरेन ने दो सीटों दुमका और बरहेट से चुनाव लड़ा है.

सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम

मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए थे. अधिकारियों के मुताबिक 22240 मतदानकर्मियों को लगाया गया. मुख्य चुनाव अधिकारी पी के जाजोरिया ने पुलिस और सुरक्षा बलों की शांति के साथ चुनाव पूरा कराने के लिए तारीफ़ की है. इसके साथ ही बड़ी संख्या में लोगों के चुनाव में हिस्सा लेने को भी बड़ी कामयाबी बताया.

Image caption मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दो सीटों से चुनाव मैदान में हैं.

चुनाव के लिए बने कुल 3773 बूथ में 389 मॉडल बूथ थे.

झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के गढ़ माने जाने वाले संथाल परगना में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हुआ.

भाजपा और झारखंड मुक्ति मोर्चा ने एक दूसरे पर दुमका में कार्यकर्ताओँ को पीटने का आरोप लगाया है. इस मामले में पुलिस ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके भाई के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज किया है.

इस चरण में सबसे अधिक झामुमो के 16 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे.

भाजपा और झारखंड विकास मोर्चा ने 15-15 उम्मीदवारों को उतारा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार