पंजाबः मनी लॉंडरिंग में मजीठिया को ईडी का समन

इमेज कॉपीरइट ADMSER.CHD.NIC.IN

भारतीय प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पंजाब के राजस्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को 26 दिसंबर के पहले हाज़िर होने का हुक्म दिया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ बिक्रम सिंह मजीठिया को ड्रग से जुड़े 6000 करोड़ रुपए के कथित मनी लॉंडरिंग मामले में तलब किया गया है.

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने मजीठिया का समर्थन किया है और कहा है, "किसी व्यक्ति को बुलाए जाने का ये मतलब नहीं कि वह अपराधी है."

लेकिन आम आदमी पार्टी ने करोड़ों रुपए के ड्रग रैकेट में निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए बिक्रम सिंह मजीठिया के इस्तीफे की मांग की है.

आप और कांग्रेस

इमेज कॉपीरइट PTI

आप पार्टी ने आरोप लगाया है कि ईडी निष्पक्ष तरीक़े से जांच नहीं कर रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखी गई एक चिट्ठी में आप नेता और वरिष्ठ वकील एच एस फुल्का ने विशेष जांच टीम गठित करने की मांग की है.

फुलका ने लिखा, "मोदी जी, यदि आप पंजाब में ड्रग धांधली को रोकने के प्रति संजीदा हैं तो तुरंत एसआईटी गठित करें."

तो दूसरी ओर पंजाब कांग्रेस और पीपुल्स पार्टी ऑफ़ पंजाब ने भी रविवार को मजीठिया के इस्तीफ़े की मांग की.

सरकारी सूत्रों के अनुसार ईडी ने मजीठिया को 26 दिसंबर को 11 बजे पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय के जालंधर दफ़्तर में बुलाया है.

मीडिया ट्रायल

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बिक्रम सिंह मजीठिया ने मीडिया ट्रायल का आरोप लगाया है.

एक ओर तो पंजाब राजस्व मंत्री मजीठिया ने एजेंसी के साथ पूरा सहयोग करने की बात कही है.

तो दूसरी ओर उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए 6000 करोड़ रुपए के कथित मनी लॉंडरिंग के आरोप को दुर्भावना भरा अभियान बताते हुए कहा है कि वे निर्दोष हैं और उन्हें मीडिया ट्रायल का हिस्सा बनाया जा रहा है.

उन्होंने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह बाजवा सहित कई नेताओं पर उनकी छवि बिगाड़ने की कोशिश का आरोप भी लगाया.

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह बाजवा ने भी उनके इस्तीफ़े की मांग की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार