बोडो उग्रवादियों के ख़िलाफ़ अभियान तेज़

  • 28 दिसंबर 2014
इमेज कॉपीरइट Reuters

एनडीएफबी (एस) गुट के ख़िलाफ़ चल रहा सैन्य अभियान तेज़ हो गया है और इसे कोकराझार में भी शुरू किया गया है.

आईजी पुलिस एलआर बिश्नोई ने बीबीसी को बताया कि 4500 अतिरिक्त जवानों के साथ जंगल युद्ध में प्रशिक्षित सीआरपीएफ़ के कोबरा कमांडो भी अभियान में शामिल हो गए हैं.

सोनितपुर और कोकराझार में उग्रवादियों के संदिग्ध ठिकानों पर कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

ज़्यादातर इलाक़ों में कमांडो दल पहुंच चुके हैं.

पहले से जानकारी थी

इमेज कॉपीरइट AFP

राज्य की खुफ़िया एंजेसियों को एनडीएफ़बी के चार नेताओं के टेलीफ़ोन वार्तालाप इंटरसेप्ट करने से पता चल गया था कि मंगलवार को वारदात होने वाली है.

सोनितपुर की पुलिस सुप्रीटेंडेट संयोगिता प्रासर ने इसकी पुष्टि की है.

उनका कहना है कि उनके पास यह संदेश 23 तारीख को दोपहर तीन बजे आया था, जबकि 4.30 बजे से गोलीबारी शुरू हो गई थी.

उनका कहना था कि इतने कम समय में इतने बड़े इलाक़े की सुरक्षा व्यवस्था में ज्यादा बढ़ोतरी संभव नहीं थी.

खराब हालात

इमेज कॉपीरइट Reuters

दूसरी ओर हिंसा के बाद पलायन करने वालों की संख्या बढ़कर 75,000 हो गई है.

इलाक़े में सैकड़ों राहत शिविर खोले गए हैं, लेकिन इनमें बच्चों से लेकर बुज़र्गों तक सभी को सिर्फ़ एक प्लास्टिक की पतली चादर पर सोना पड़ रहा है.

यहां रहने वाले कई लोगों का आरोप है कि खाने की सामग्री को लेकर उन्हें सरकार की तरफ़ से अभी तक कोई मदद नहीं मिली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार