अब आपके टॉयलेट में झाँकेगी सरकार

इमेज कॉपीरइट EPA

भारत सरकार ने एक राष्ट्रीय योजना का खाका तैयार किया है जिसके तहत अधिकारी घर घर जाकर देखेंगे कि लोग शौचालयों का इस्तेमाल कर रहे हैं या नहीं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन महीने पहले देशभर में स्वच्छता अभियान शुरू किया था. इसी के तहत यह क़दम उठाया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट WSUP ATUL LOKE PANOS

सैनिटेशन इंस्पेक्टरों को घर-घर जाकर सर्वेक्षण करने और इसकी रिपोर्ट मोबाइल और टैबलेट के ज़रिए तैयार करने को कहा गया है.

एक सरकारी बयान में कहा गया है कि यह सर्वेक्षण पहले हुए सर्वेक्षणों से एक क़दम आगे जाकर हो रहा है जब केवल शौचालयों की मौजूदगी का ही हिसाब रखा जाता था.

सरकार का कहना है कि उसने अक्टूबर से अब तक 50 लाख घरेलू शौचालयों का निर्माण कराया है.

इमेज कॉपीरइट REUTERS

हालांकि संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़ भारत की तक़रीबन आधी आबादी घरों में बने शौचालयों का इस्तेमाल नहीं करना चाहती.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि इस वजह से बड़े पैमाने पर गंदगी से जुड़ी बीमारियां और मौतें होती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार