नाव मामला, आतंकी कार्रवाई: रक्षा मंत्री

  • 5 जनवरी 2015
pakistan boat, bomb, blast, defence minister, manohar parrikar इमेज कॉपीरइट PIB

बीते दिनों पाकिस्तानी नाव के धमाके वाले मामले पर बोलते हुए सोमवार को रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने इसे एक 'संदिग्ध आतंकी कार्रवाई' बताया है.

साथ ही उन्होंने भारतीय तटरक्षक बलों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह उनका सही समय पर लिया गया सही कदम था.

पर्रिकर ने कहा, "वह नाव करीब 12 घंटे से ज्यादा समय से निगरानी पर थी, जिसको बहुत जल्द रोक दिया गया."

'तस्कर नहीं थे'

इमेज कॉपीरइट Indian Coast Guard

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक रक्षा मंत्री ने कहा, "जिस प्रकार नाव पर सवार लोगों ने आत्महत्या की उससे यह साफ जाहिर होता है कि वे आतंकी थे, नहीं तो ऐसी हालत में ड्रग्स ले जा रहे तस्कर भी आत्मसमर्पण कर देते हैं."

रक्षा मंत्री ने बताया कि नाव जिस रास्ते से जा रही थी, वह सामान्य मार्ग नहीं था. क्योंकि तस्कर भी व्यस्त मार्ग चुनते हैं ताकि वे भीड़ में पहचाने ना जा सकें.

मनोहर पर्रिकर ने यह बयान उन मीडिया ख़बरों के बाद दिया जिसमें यह कहा जा रहा था कि पाकिस्तान से आ रही उस नाव में तस्करी का सामान भी हो सकता था.

कांग्रेस ने इस घटना पर सवाल खड़े किए थे.

बीते 31 दिसंबर को करीब 12 बजे भारतीय तटरक्षक बलों ने पोरबंदर से 365 किलोमीटर की दूरी पर एक संदिग्ध नाव देखी थी.

तटरक्षक बलों के मुताबिक, चेतावनी देने के बाद इस नाव में सवार लोग छिप गए थे और नाव में एक धमाके के साथ आग लग गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार