'दिल्ली को अस्थिर करने वालों को सबक सिखाओ'

मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में भाजपा के चुनावी अभियान की शुरुआत करते हुए शनिवार को कहा कि जो देश का मूड है वही दिल्ली का भी मूड है.

उन्होंने दिल्ली की समस्याओं के लिए राज्य और केंद्र की पूर्व सरकारों को ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इन सरकारों के पास आम आदमी की समस्याओं को सुलझाने की फ़ुरसत नहीं थी.

मोदी ने ऐतिहासिक रामलीला मैदान में आयोजित जनसभा में कहा, "राजनीति बहुत हो चुकी है और नारे भी बहुत लग चुके हैं लेकिन ग़रीबी नहीं हटी. विकास घोषणाओं से नहीं होता इसके लिए मेहनत करनी पड़ती है."

उन्होंने कहा, "कुर्सी बचाने के अलावा राजनीति में कुछ बचा नहीं था लेकिन हमने नई राजनीति की शुरुआत की. यह राजनीति जातिवाद, सांप्रदायिकता और प्रांतवाद से परे है और विकासवाद की उसका एकमात्र संकल्प है."

आम आदमी पार्टी ने मोदी के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्हें उटपटांग बातें करने के बजाए अपने वादे पूरे करने चाहिए.

ग़रीबों का हित

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मोदी ने भ्रष्टाचार का भी ज़िक्र किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार का हरेक क़दम ग़रीबों के हित में है.

उन्होंने दिल्लीवासियों को 24 घंटे बिजली देने का वादा करते हुए कहा कि राजधानी को जेनरेटर और ज़हरीली हवा से मुक्ति दिलाएंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ऐसी तकनीक लेकर आ रही है जो दिल्ली में बिजली क्षेत्र की तस्वीर बदल देगी.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राजधानी को 2022 तक झुग्गी झोपड़ियों से मुक्त कराने का लक्ष्य रखा है और इसके लिए उन्हें जनता का आशीर्वाद चाहिए.

आम आदमी पार्टी पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा कि जिन लोगों ने दिल्ली को अस्थिर किया उन्हें सबक सिखाने की ज़रूरत है.

मास्टरी

इमेज कॉपीरइट PTI

उन्होंने कहा, "जिन लोगों की मास्टरी धरना देने की है उनको वह काम करने दीजिए. हमारी मास्टरी सरकार चलाने में है इसलिए हमें यह कम सौंपिए."

मोदी ने भ्रष्टाचार का ज़िक्र करते हुए कहा कि इसने देश को बर्बाद किया है और उन्होंने इसे मिटाने का बीड़ा उठाया है.

प्रधानमंत्री ने कहा, "हमने सात महीने में साफ़ सुथरी सरकार दी है और भ्रष्टाचार मिटाने की शुरुआत ऊपर से की है."

रैली में महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के अलावा कई केंद्रीय मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे.

आम आदमी पार्टी ने मोदी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए वह ऐसे बयान दे रहे हैं.

पार्टी के नेता सोमनाथ भारती ने कहा, "मोदी को इस तरह की उटपटांग बातें नहीं करनी चाहिए बल्कि जनता से किए गए वादों को पूरा करना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)