आरबीआई की घोषणा से झूमा शेयर बाज़ार

  • 15 जनवरी 2015
बीएसई बिल्डिंग इमेज कॉपीरइट Getty

भारतीय रिज़र्व बैंक की रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती की घोषणा के बाद शेयर बाज़ारों में गुरुवार को जमकर ख़रीदारी हुई.

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक निफ्टी ढाई प्रतिशत की बढ़त लेकर बंद हुआ.

शेयर बाज़ार में पिछले आठ महीने में किसी कारोबारी सत्र में यह सबसे बड़ा उछाल है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ इससे पहले 9 मई 2014 को इससे अधिक बढ़त दर्ज की गई थी.

30 शेयरों वाला सेंसेक्स 728 अंकों की बढ़त के साथ 28,075 पर और 50 शेयरों वाला निफ्टी 216 अंकों की बढ़त के साथ 8,494 पर बंद हुआ.

रेपो रेट में कटौती का जोश

बाज़ार को उछालने वालों सबसे अधिक योगदान रहा बैंकिंग, रियल्टी, ऑटो और फाइनेंशियल कंपनियों के शेयरों का. रेपो रेट में कटौती के बाद कर्ज़ कुछ सस्ता होने की उम्मीदों के बाद इन शेयरों में जमकर ख़रीदारी हुई.

Image caption रिज़र्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट कटौती की घोषणा की

बीएसई बैंकिंग इंडेक्स में 3.2 प्रतिशत, रियल्टी इंडेक्स में 8 प्रतिशत, ऑटो इंडेक्स में 2.1 प्रतिशत और कैपिटल गुड्स इंडेक्स में 2.4 प्रतिशत का उछाल आया.

सबसे तेज़ी वाले शेयरों में एचडीएफ़सी 7.16 प्रतिशत, एसबीआई 5.02 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 4.60 प्रतिशत की बढ़त लेकर बंद हुए.

टाटा पावर, रिलायंस इंडस्ट्रीज़, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति सुज़ुकी और एचडीएफ़सी बैंक के शेयरों में तीन प्रतिशत से अधिक की तेज़ी रही.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार