मुजफ्फरपुर हिंसा: 14 लोग गिरफ़्तार

  • 19 जनवरी 2015
पुलिस इमेज कॉपीरइट Reuters File Photo

बिहार के मुजफ्फरपुर ज़िले के सरैया थाना स्थित अजीज़पुर गाँव में एक अपहृत युवक का शव मिलने के बाद भीड़ ने कई घरों को आग के हवाले कर दिया.

बिहार के अतिरिक्त पुलिस महानिदेश (मुख्यालय) गुप्तेश्वर पांडेय ने बताया कि समूचा प्रकरण मुसलमान लड़की और हिंदू लड़के के बीच प्रेम प्रसंग से जुड़ा है.

भारतेंदु साहनी नाम के लड़के का अपहरण कर हत्या कर दी गई थी. शव मिलने के बाद स्थानीय अनियंत्रित भीड़ ने कई मकानों को आग के हवाले कर दिया. जिसमें चार लोगों की जलकर मौत हो गई.

इस मामले में 14 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. क़ानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पड़ोसी ज़िलों से भी सुरक्षा कर्मियों को बुला लिया गया है.

पुलिसबल तैनात

इमेज कॉपीरइट bihar police

बिहार सरकार की ओर से गृह सचिव सुधीर कुमार और एडीजी पुलिस मुख्यालय गुप्तेश्वर पांडेय के नेतृत्व में जांच कमेटी गठित कर दी गई है.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, मृतक छात्र भारतेंदु बहिलवारा माली टोला के कमल सहनी का पुत्र था.

सरैया थाना में गुम छात्र के पिता ने अपहरण से संबंधित प्राथमिकी 11 जनवरी को दर्ज कराई थी.

प्राथमिकी में अजीतपुर गाँव के मोहम्मद वासी अहमद के पुत्र सदाक़त अली को नामज़द अभियुक्त बताया गया है.

स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारी गाँव में कैम्प कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए