महिला दस्ते के नेतृत्व में गणतंत्र दिवस परेड

republic day इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के 66वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर पहली बार अमरीकी राष्ट्रपति की मौजूदगी में, पहली बार महिला मार्चिंग दस्ते ने परेड का नेतृत्व किया.

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा मुख्य मेहमान के तौर पर समारोह में शामिल हुए.

महिला मार्चिंग दस्ते ने कैप्टन दिव्या के नेतृत्व में परेड की शुरुआत की.

इमेज कॉपीरइट AFP

इनके पीछे थी एवरेस्ट पर फतह करने वाली महिला अधिकारियों की टीम. पूरी परेड का नेतृत्व मेजर जनरल सुब्रत मित्रा कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने परेड की सलामी ली. समारोह में बराक औबामा और मिशेल के साथ, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बीजेपी के लाल कृष्ण आडवाणी और की किरण बेदी भी परेड देखने आए.

शक्ति का प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट AFP

इस समारोह के दौरान हज़ारों की संख्या में मौजूद नागरिकों के सामने, अपनी-अपनी वर्दी और रंगदार पगड़ियों में सैनिकों, अर्धसैनिक बलों और स्कूली बच्चों की टुकड़ियों ने भाग लिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय वायुसेना के विभिन्न लड़ाकू विमानों ने आसमान में अलग-अलग फ़ॉर्मेशन बनाते हुए अपने जौहर का प्रदर्शन किया.

परेड में ब्रिगेड ऑफ गार्ड्स, ग्रेनेडियर्स, जाट, सिख, कुमाउं रेजीमेंट और जम्मू और कश्मीर राइफल्स, 14 गोरखा ट्रेनिंग सेंटर और टेरीट्री आर्मी (पंजाब) के दस्तों ने मार्च किया.

इमेज कॉपीरइट AFP

स्क्वैड्रन लीडर मनविंदर सिंह के नेतृत्व में मार्च करने वाली 114 पुरुषों वाले एयरफोर्स दस्ते ने राष्ट्रपति को सलामी दी.

फ्लाइंट लेफ़्टीनेंट स्नेहा शेखावत के नेतृत्व में अखिल महिला वायु सेना की अधिकारियों का दस्ता निकला.

नौसेना महिला अधिकारियों का दस्ते का नेतृत्व लेफ्टीनेंट कमांडर प्रिया जयकुमार ने किया.

इमेज कॉपीरइट AP

नौसेना के 144 युवा नाविकों के दस्ते के साथ कमांडर संध्या चौहान ने राष्ट्रपति को सलामी दी. एवरेस्ट पर फतह करने वाली महिला अधिकारियों की टीम ने भी मार्च किया.

टी-90 टैंक के संचालन में चलने वाली हथियारों से लैस सेना की टुकड़ी भी मार्च में शामिल हुई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार