चंदे के मुद्दे पर 'आप' का पलटवार

  • 3 फरवरी 2015
कुमार विश्वास इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

चंदे के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी पर पटलवार करते हुए जांच कराए जाने की चुनौती दी है.

आम आदमी पार्टी ने मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एक एसआईटी गठित की जाए जो दिल्ली चुनावों की तीनों प्रमुख पार्टियों के चंदे की जांच करे.

'आप' का कहना है कि दोषी पाए जाने पर पार्टी किसी भी तरह की कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार है.

एक संवाददाता सम्मेलन में आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने भाजपा पर ग़लत तरीके से पैसे लेने और लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया.

उन्होंने सवाल उठाया है कि यदि भाजपा में चंदा लेने की प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी है तो उसे आगे बढ़कर इसमें सहयोग करना चाहिए. यदि वो ऐसा नहीं करती है तो इसका मतलब साफ़ है कि वो ग़लत तरीक़े से पैसा लेते हैं.

जांच की मांग

इमेज कॉपीरइट

आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि भाजपा ने उनकी पार्टी की वेबसाइट पर डाली गई जानकारियों को ही तोड़-मरोड़कर बेबुनियाद आरोप मढ़ दिए हैं.

आप के एक अन्य नेता आशीष खेतान ने केंद्र सरकार पर तीखे आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के एक मंत्री ने हमारी पार्टी पर 'मनी लॉंडरिंग' का आरोप लगाया है, सरकार इसकी जांच कराए.

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार ने इसकी जांच नहीं कराई तो आम आदमी पार्टी खुद जांच एजेंसी के पास जाएगी और इसकी मांग करेगी.

आम आदमी पार्टी की नेता और पूर्व बैंकर मीरा सान्याल ने कहा कि वित्तमंत्री एक फ़ोन कॉल कर बैंक से पैसे के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि 'मनी लॉंडरिंग एक्ट' के तहत किसी पर कार्रवाई करने का पूरा हक़ केंद्र सरकार का है, इसलिए उन्हें यह काम समय गंवाए बग़ैर करना चाहिए.

आरोप

इमेज कॉपीरइट Getty

आरोप यह लगाया जा रहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनावों के ठीक पहले आम आदमी पार्टी को 50-50 लाख रुपये का चंदा देने वाली दो कंपनियां फर्ज़ी हैं.

विरोधी पार्टियां पूछ रही हैं कि 'आप' ने इस तरह की बोगस कंपनियों से चंदा क्यों लिया? यह सवाल भी उठाया जा रहा है कि इन कंपनियों ने आम आदमी पार्टी को इतनी बड़ी रकम चंदे में क्यों दी?

भारतीय जनता पार्टी ने इस मुद्दे पर आम आदमी पार्टी को घेरना शुरू कर दिया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पार्टी ने कई अख़बारों में विज्ञापन देकर आप पर सवाल उठाए हैं.

अरविंद केजरीवाल ने सुबह ट्वीट कर कहा था कि आप के पांच नेता भाजपा, कांग्रेस और आप के चंदे की जांच के लिए एसआईटी गठन की मांग को लेकर सुबह साढ़े दस बजे सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर करेंगे.

पार्टी नेता आशुतोष ने ट्विटर पर घोषणा की थी कि कुमार विश्वास, संजय सिंह, आशीष खेतान, योगेंद्र यादव और वो स्वयं सुप्रीम कोर्ट जाएंगे. लेकिन दोपहर में पार्टी नेताओं ने एक संवाददाता सम्मेलन कर भाजपा पर पलटवार किया.

आशुतोष ने लिखा है कि आम आदमी पार्टी एसआईटी गठन के लिए कांग्रेस और भाजपा अध्यक्षों को चिट्ठी लिखेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार