जिनका फैमिली बिज़नेस डकैती है..

  • 3 फरवरी 2015
बिहार का डकैत परिवार पुलिस हिरासत में इमेज कॉपीरइट Priyranjan

इस घटना में बॉलीवुड की एक्शन फ़िल्म के सारे तेवर हैं. एक लखपति परिवार- जो ख़ुद है डाकुओं का एक गिरोह. इसमें सारे डाकू एक ही परिवार के सदस्य हैं यानी डकैती है फैमिली बिज़नेस.

बिहार के बांका ज़िला पुलिस के अनुसार गिरोह के मुखिया बटेश्वर मंडल का बांका शहर में पक्का मकान है और यह परिवार गाड़ियां भी भाड़े पर देता है.

पुलिस के अनुसार 23 जनवरी को बांका शहर स्थित भारतीय स्टेट बैंक की दुधारी शाखा से लगभग बारह लाख रुपए भी इन्होंने ही लूटे थे.

इस फैमिली गैंग के बारे में बांका के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर सत्य प्रकाश ने बताया, "बैंक लूट को बटेश्वर मंडल और उनके तीन बेटों ने अपने एक नजदीकी रिश्तेदार के साथ मिलकर अंज़ाम दिया."

पुलिस के अनुसार इस गैंग के मुखिया ने पहले चोरी शुरू की और फिर अपने बेटों को ट्रेनिंग देकर इस ‘धंधे’ में उतारा.

‘फैमिली गैंग’ और भी

इमेज कॉपीरइट Priyranjan

पुलिस तहकीक़ात से यह बात भी सामने आई है कि पहले भी यह परिवार हत्या सहित कई अन्य अपराधों में शामिल रहा है.

लेकिन बैंक लूट का पर्दाफाश होने से पहले न तो पुलिस को इसकी ख़बर थी और न पड़ोसियों को इसकी भनक.

साथ ही बांका और आस-पास के ज़िलों में ऐसे कई दूसरे ‘फैमिली गैंग्स’ के सक्रिय होने का भी पता चला है. पुलिस अधीक्षक के अनुसार इनमें हाजरा गैंग, दास और खैरा गैंग काफी सक्रिय हैं.

स्थानीय पत्रकार प्रियरंजन के अनुसार बेटों के साथ बटेश्वर के गिरफ़्तार होने पर आस-पास के लोग हैरान रह गए थे.

प्रियरंजन ने बताया कि पड़ोसियों के अनुसार परिवार की गतिविधियां किसी भी तरह का शक़ पैदा नहीं करती थीं.

सामान्य जीवन

इमेज कॉपीरइट priyranjan
Image caption जिस बैंक में लूट की वारदात हुई उसके बाहर लगी भीड़.

मंडल परिवार आने-जाने वालों से, पड़ोसियों से सामान्य रूप से मिला करता था.

लगभग 55 साल के बटेश्वर के सात बेटे हैं. इनमें से दो छोटे बेटों को छोड़ बाकी सभी बटेश्वर के साथ कथित रूप से आपराधिक घटनाओं में शामिल रहते हैं.

बटेश्वर के गिरफ़्तार हुए तीन बेटों नागमणि, अंगद और पांडा की उम्र 20 से 35 साल के बीच है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार