15 लाख की बात तो चुनावी जुमला था: अमित शाह

अमित शाह के साथ नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Getty

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि नरेंद्र मोदी के काला धन वापस लाने के बाद हर परिवार के खाते में 15-15 लाख रूपए जमा करने की बात बस एक जुमला है.

भारतीय समाचार चैनल एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि ये चुनावी भाषण में वज़न डालने के लिए बोली गई बात है क्योंकि किसी के अकाउंट में 15 लाख रुपए कभी नहीं जाते, ये बात जनता को भी मालूम है.

दो दिन बाद ही दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान है. भाजपा और आप के बीच जबरदस्त आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चल रहा है.

दरअसल नरेंद्र मोदी ने चुनावी भाषण में कहा था कि वे काला धन देश में वापस लाएंगे और हर नागरिक के खाते में 15 लाख रूपए जमा करेंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने मोदी से सवाल किया है.

अमित शाह के अनुसार मोदी के कहने का मतलब ये है कि जो भी काला धन वापस आएगा उसका इस्तेमाल गरीबों के लिए उपयोगी योजनाओं के लिए होगा.

अमित शाह ने एबीपी को दिए इंटरव्यू में कहा कि यदि केजरीवाल इस बात को नहीं समझते तो उन्हें उन पर तरस आता है.

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस वादे पर जनता को बरगलाने का आरोप लगाते हुए पूछा था कि कहां है वह काला धन.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार