केजरीवाल कार से जाएंगे शपथ लेने

  • 14 फरवरी 2015
इमेज कॉपीरइट AP

14 फ़रवरी की सुबह रामलीला मैदान में जब अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे तो वे दिल्ली के आठवें मुख्यमंत्री के रूप में यह जिम्मेवारी संभालेंगे.

ठीक एक साल पहले उन्होंने 14 फ़रवरी के दिन ही जनलोकपोल के मुद्दे पर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था.

दिसंबर 2013 में मिली जीत के बाद वे 49 दिनों तक दिल्ली के मुख्यमंत्री रहे थे.

इन 49 दिनों में उन्होंने कई बड़े फ़ैसले लिए थे लेकिन मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद वे लगातार विपक्ष के निशाने पर रहे.

साल 2011 से जन-लोकपाल के मुद्दे से शुरू हुआ उनका सफर अब दिल्ली की मुख्यमंत्री पद तक आ पहुंचा है.

तैयारी

इमेज कॉपीरइट AFP

शपथ ग्रहण समारोह को लेकर रामलीला मैदान में पूरी तैयारी कर ली गई है. तम्बू खड़े हो चुके हैं. लाईट और माइकों को तकनीशियन दुरूस्त करने में लगे है ताकि शपथ के वक़्त सब कुछ ठीक रहे.

अनगिनत कुर्सियां बिखरी पड़ी है. शपथ ग्रहण समारोह में भारी जनसलैब उमड़ने की उम्मीद की जा रही है.

पिछली बार केजरीवाल का शपथ ग्रहण मेट्रो से उनके रामलीला मैदान तक जाने की वजह से काफ़ी सुर्खियों में रहा था.

लेकिन इस बार उन्होंने फ़ैसला लिया है कि वे मेट्रो के बजाए कार से शपथ ग्रहण के लिए जाएंगे.

पीआईबी के मुताबिक़ उनके कैबिनेट में उनके साथ छह मंत्रियों को शपथ दिलाया जाएगा.

शपथ ग्रहण के साथ ही जन-आकांक्षाओं का भारी दबाव भी कल से उनके ऊपर शुरू हो जाएगा.

अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचण्ड बहुमत हासिल किया है. 'आप' ने 70 सीटों में से 67 पर जीत हासिल की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार