बिहार: बीजेपी करेगी मांझी का समर्थन

  • 20 फरवरी 2015
जीतनराम मांझी

बिहार में 20 फ़रवरी को होने वाले विश्वासमत प्रस्ताव के दौरान बीजेपी मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी का समर्थन करेगी.

भाजपा की बिहार इकाई ने गुरुवार को व्हिप जारी करके अपने 87 विधायकों को विश्वासमत के दौरान जीतनराम मांझी का समर्थन करने को कहा है.

भाजपा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडे ने बीबीसी से कहा, "जिस प्रकार से नीतीश कुमार महादलित समाज को अपमानित करने का काम कर रहे हैं, समाज के गरीब तबके के व्यक्ति को परेशान कर रहे हैं, वैसी स्थिति में भाजपा ने तय किया है कि वे जीतनराम मांझी का साथ देगी. यह भाजपा के विधायकों के बीच सर्वसम्मति से लिया गया फ़ैसला है."

मांझी को विश्वास मत के दौरान 117 विधायकों के समर्थन की जरूरत है.

इससे पहले पटना हाई कोर्ट ने जद-यू के आठ बाग़ी विधायकों को मतदान में भाग लेने की अनुमति देने से मना कर दिया. इन विधायकों को बिहार विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने निष्कासित कर दिया था.

वहीं विधान सभा अध्यक्ष ने जद-यू नेता विजय चौधरी को मुख्य विपक्षी पार्टी के नेता के रूप में नामित किया है. इस तरह बिहार में भाजपा के स्थान पर जद-यू अब मुख्य विपक्षी पार्टी हो गई है.

मांझी की बग़ावत

इमेज कॉपीरइट niraj sahai

जद-यू के अध्यक्ष शरद यादव ने जीतनराम मांझी को पार्टी से निकालते हुए उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देने के लिए कहा था. लेकिन मांझी ने इससे इनकार करते हुए विधानसभा में बहुमत होने का दावा किया था.

बाद में बिहार के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने जीतनराम मांझी से 20 फरवरी को बहुमत साबित करने को कहा.

मांझी नीतीश कुमार के पिछले साल इस्तीफ़ा देने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री बनाए गए थे. नीतीश ने पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद छोड़ दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार