भारत में 'बुरी लड़की' बनने का तरीका

बैड गर्ल पोस्टर इमेज कॉपीरइट Other

इंटरनेट पर पिछले कुछ दिनों से ऐसा पोस्टर ट्रेंड कर रहा है जो ये बताता है कि भारत में 'एक बुरी लड़की' कहलाने के लिए क्या करना होता है.

रेडिट और फ़ेसबुक पर साझा किए जा रहे इस पोस्टर से इंटरनेट पर एक बहस शुरू हो गई है.

कई लोगों को ये पोस्टर नारीवादी लग रहा है. किसी ने ट्वीट किया है, "#badgirls चार्ट किसने बनाया है नहीं पता. लेकिन ये दुखद है कि बहुत से लोगों के लिए ये सच के बहुत करीब है."

फ़ेसबुक पर आए एक कमेंट में अरेंज मैरिज को भी महिलाओं के साथ होने वाले अन्याय से जोड़ने की राय दी गई है. इस कमेंट में कहा गया है, "किसी अजनबी से शादी करना...ये अच्छी लड़की की निशानी है!"

ट्विटर पर एक कमेंट में कहा गया है, "मुझे तो रोटी बेलनी आती ही नहीं. मैं नर्क में जाऊँगी."

मिल-जुल कर बनाया

इमेज कॉपीरइट Other

हालाँकि कुछ लोग इन पोस्टर में छिपे व्यंग्य को पहचान नहीं पा रहे हैं और इसमें लिखी बातों को शाब्दिक अर्थों में ले रहे हैं.

क्या ये पोस्टर कुछ पेशेवर लोगों ने इंटरनेट पर हिट्स पाने के लिए बनाए हैं? नहीं, इन्हें बैंगलुरू के सृष्टि स्कूल ऑफ़ आर्ट, डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी के छात्रों ने बनाया है.

इसे बनाने वाले समूह में पुरुष और महिलाएं दोनों हैं. ये पोस्टर इस समूह को होमवर्क के तौर पर दिए गए थे.

फ़ेसबुक पर इन पोस्टर को सबसे पहले शेयर करने वाले इस समूह के सदस्य फ़ुरक़ान जावेद ने बीबीसी को बताया कि इनकी लोकप्रियता से वो चकित हैं.

वो कहते हैं, "हमारा उद्देश्य इसे सामाजिक प्रोपगैंडा बनाना नहीं था. हमने अपने असानइमेंट के लिए इन्हें बनाया था."

समूह ने ऐसे कामों की सूची बनाई जिन्हें करने के बाद लड़के आसानी से बच निकलते हैं, लेकिन लड़कियों पर उन्हें लेकर सवाल उठाए जाते हैं.

ये पोस्टर इससे पहले बनाए गए ऐसे ही पैरोडी पोस्टर 'आदर्श बालक' से प्रेरित हैं. सोशल मीडिया पर पहले ही लोकप्रिय हो चुके आदर्श बालक पोस्टर में लड़कों पर तंज कसे गए हैं.

समलैंगिकता का समर्थन

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption मीरा सेठी का पोस्टर

साल 2010 में कलाकार मीरा सेठी ने भी ऐसे पोस्टर समलैंगिकता विरोधी विचारों पर टिप्पणी करने के लिए बनाए थे.

मीरा कहती हैं, "मैंने ये पोस्टर समलैंगिक नौजवानों के लिए बनाया, जिन्हें आम तौर पर 'आदर्श' नहीं माना जाता."

ट्विटर पर 'एक बुरी लड़की' पोस्टर शेयर करने वाली जोयलिता सालदन्हा ने इसे पहले इसे अपने एक दोस्त के फ़ेसबुक पर देखा था.

उन्होंने बीबीसी को बताया कि मेरा ध्यान उस कार्टून ने खींचा जिसमें कहा गया था, "अगर आप शराब पीती हैं...तो आप एक बुरी लड़की हैं." वो कहती हैं भारतीय लड़कियों को हमेशा ही ऐसी बातें सुनने को मिलती रहती हैं.

(समीहा नेतिककारा और सैम जुडाह की ब्लॉग पोस्ट.)

('एक बुरी लड़की' पोस्टर को तैयार किया है फ़ुरक़ान जावेद, रोशन शकील, स्पर्श सक्सेना, जयवंत प्रधान और स्तुति कोठारी ने.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार