कोस्ट गार्ड बयान पर क़ायम, जारी किया वीडियो

  • 21 फरवरी 2015
कोस्ट गार्ड इमेज कॉपीरइट

कथित पाकिस्तानी बोट में सवार लोगों ने बोट को ख़ुद आग लगाई थी या उसे भारतीय कोस्ट गार्ड ने उड़ा दिया था, इस पर अभी भी सस्पेंस बरक़रार है.

लेकिन इस मामले में अपनी सफ़ाई देते हुए कोस्ट गार्ड ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा कि बोट को भारतीय कोस्ट गार्ड ने नहीं उड़ाया था, बल्कि उस पर सवार लोगों ने ही उसे उड़ा दिया था.

अपनी बात को साबित करने के लिए कोस्ट गार्ड ने एक वीडियो भी मीडिया को जारी किया है जिसमें यह दिखाया गया है कि नाव में मौजूद लोगों ने कोस्ट गार्ड की चेतावनी के बाद ख़ुद को उड़ा लिया था.

ताज़़ा प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस मामले में बयान देने के लिए रक्षा मंत्रालय ने कोस्ट गार्ड के डीआईजी बीके लोशाली के ख़िलाफ़ विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं.

बयान के अनुसार डीआईजी लोशाली को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था जिसका जवाब भी मिल गया है, लेकिन लोशाली के बयान से विभाग संतुष्ट नहीं है जिसके बाद लोशाली के ख़िलाफ़ बोर्ड ऑफ़ इंक्वारी के आदेश दे दिए गए हैं.

इमेज कॉपीरइट others
Image caption कोस्ट गार्ड निगरानी करते हुए

ये घटना 31 दिसंबर 2014 की है. लेकिन इस मामले में ताज़ा मोड़ उस समय आया जब अंग्रेज़ी दैनिक इंडियन एक्सप्रेस ने कुछ दिनों पहले एक वीडियो जारी किया था जिसमें डीआईजी लोशाली को ये कहते हुए देखा जा सकता है कि पाकिस्तानी बोट को उड़ाने का आदेश ख़ुद उन्होंने दिया था.

पूरा मामला

31 दिसंबर की रात को गुजरात के पोरबंदर से 365 किलोमीटर दूर एक बोट में आग लगी थी और वो डूब गई थी.

उस समय भारतीय रक्षा मंत्रालय ने कहा था कि यह बोट पाकिस्तानी जल सीमा से अवैध रूप से भारतीय जल सीमा में प्रवेश कर चुकी थी और संदिग्ध जान पड़ रही थी. मंत्रालय के अनुसार इस बोट में चार लोग सवाल थे. रक्षा मंत्रालय के मुताबिक़ भारतीय कोस्ट गार्ड ने उन्हें चेतावनी दी थी जिसके बाद नाव पर सवार लोगों ने ख़ुद ही बोट में विस्फोट कर दिया था.

लेकिन पाकिस्तान ने भारतीय दावों को ख़ारिज करते हुए कहा था कि कराची बंदरगाह से चली इस नाव से उसका कोई लेना-देना नहीं है. पाकिस्तान के मुताबिक़ घटना के वक़्त ऐसी कोई भी नाव उसके कैटी बंदरगाह से नहीं निकली थी.

भारतीय मीडिया के कुछ हिस्सों ने भी सरकारी दावों पर कई सवाल उठाए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार