तस्वीरें: भाग के शादी करने का जश्न..

भगोरिया मेले में लड़कियां इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

मध्यप्रदेश के आदिवासी समुदाय में सालों से भगोरिया पर्व मनाने की प्रथा चली आ रही है.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

यह भील और भीलाला आदिवासी समुदाय का सालाना त्यौहार है जो कि रंगों के त्यौहार होली के एक हफ़्ते पहले मनाया जाता है.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

इस त्यौहार के दौरान समुदाय के नौजवान सदस्यों को अपने जीवनसाथी चुनने की पूरी आज़ादी होती है. भगोरिया का मतलब ही होता है भागना.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

यह जीवन और प्रेम का उत्सव है जो संगीत,नृत्य और रंगों के साथ मनाया जाता है.

इस दौरान मध्यप्रदेश के आदिवासी इलाकों में कई मेले लगते हैं और हज़ारों की संख्या में नौजवान युवक-युवतियां इन मेलों में शिरकत करते हैं.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

मेले के दौरान ये नौजवान मस्ती के आलम में रहते हैं.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

इन दिनों ऐसा ही एक मेला मध्यप्रदेश के अलीराजपुर ज़िले के वालपुर गांव में लगा हुआ है और वहां बड़ी संख्या में औरतें अपने होने वाले पति की तलाश में चली आ रही है.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

अलीराजपुर के सेवानिवृत बैंक कर्मचारी अनिल तावर का कहना है कि भगोरिया का मेला साप्ताहिक बाज़ारों में लगता है.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

इस पर्व के दौरान झाबुआ और धार के कई आदिवासी इलाकों में ये मेले लगते हैं.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

स्थानीय फ़ोटो स्टूडियो के मालिक सोनी का कहना है कि यहां पर नौजवानों के भाग कर शादी करने को स्वीकार्यता प्राप्त है.

वो आगे कहते हैं, "भील आदिवासियों में शादी के लिए अनिवार्य शर्त है कि अपने पसंद के लड़के या लड़की से शादी करें. और यह इस उत्सव का हिस्सा है."

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

पारंपरिक रंगीन कपड़ों में सजे-धजे नौजवान लोगों को इस तरह से मेले में अपने जीवनसाथी को ढूंढ़ते हुए देखना वाकई में एक रोमांचकारी अहसास है.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

मेले के दौरान कुछ आदिवासी लोग बांसुरी बजाते हैं और अपने-अपने खेल-तमाशे दिखाते हैं.

इमेज कॉपीरइट PRAKASH HATVALNE

वे पारंपरिक संगीत वाद्ययंत्र मंडल और ढोल की थाप पर नाचते-गाते हैं.

भगोरिया के मेले में जब जींस पहने और चश्मे लगाए नौजवान दिखते हैं तो उनमें आधुनिक दुनिया की भी झलक दिखती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार