टूटेगा इसराइल-फ़लस्तीन सुरक्षा समझौता!

इसराइल के साथ सुरक्षा समझौतों पर सहयोग खत्म किया जाएगा इमेज कॉपीरइट BBC World Service

फ़लस्तीनी मुक्ति संगठन यानी पीएलओ ने इसराइल के साथ साल 1993 में हुए सुरक्षा सहयोग समझौते को ख़त्म करने का फ़ैसला किया है. ये समझौता साल 1993 में हुए ओस्लो समझौते का हिस्सा था.

पीएलओ फ़लस्तीनी लोगों की प्रतिनिधि संस्था है और इसके फ़ैसले फ़लस्तीनी प्राधिकरण पर भी लागू होंगे.

इसका मतलब ये हुआ कि हमास जैसे चरमपंथी दलों के साथ अब ख़ुफ़िया जानकारी साझा नहीं की जाएगी.

यह फ़ैसला इसराइल और फ़लस्तीनी प्राधिकरण के बीच बिगड़ते रिश्तों का संकेत है.

गुरुवार को पीएलओ ने कहा कि जल्द ही कार्यसमिति की एक बैठक होगी जिसमें रमल्ला के वेस्ट बैंक शहर में हुई केन्द्रीय परिषद की बैठक के इस फ़ैसले को लागू करने पर चर्चा की जाएगी.

कर-ट्रांसफर पर रोक का जवाब

इमेज कॉपीरइट EPA

पर्यवेक्षकों के अनुसार यह घोषणा इसराइल के कर-हस्तांतरण पर रोक लगाने के बाद की जवाबी कार्रवाई है, जो कि फ़लस्तीनी प्राधिकरण के लिए आय का मुख्य ज़रिया है.

जनवरी में अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय (आईसीसी) से जुड़ने के फ़ैसले के बाद इसराइल ने कर-हस्तांतरण पर रोक लगा दी थी. इस वजह से फ़लस्तीनी सरकार हज़ारों कर्मचारियों को भुगतान कर पाने में असमर्थ है.

फ़लस्तीनी सूत्रों का कहना है कि यह अंतिम फ़ैसला है और यह इसराइल पर कर जारी करने के लिए दवाब बनाने का तरीक़ा नहीं है.

इस फ़ैसले पर इसराइल की ओर से जवाब आना अभी बाकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार