हिसाब नहीं आया, तो दूल्हे को लौटाया

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

उत्तर प्रदेश में होने वाली एक दुल्हन ने ये पता चलने पर कि दूल्हा कम पढ़ा लिखा है, फेरे लेने से मना कर दिया.

मामला कानपुर के कारेरामपुर गाँव का है जो शहर से क़रीब 60 किलोमीटर दूर है.

रसूलाबाद थाने के प्रमुख सुनील यादव ने बीबीसी से कहा, "कारेरामपुर निवासी मोहर सिंह ने अपनी पुत्री लवली का विवाह इटावा में रहने वाले बाबूराम के पुत्र राम बरन से तय किया था. पर शादी के थोड़ी देर पहले लवली को पता चला की राम बरन अनपढ़ है और लवली ने शादी से इनकार कर दिया."

सुनील यादव के अनुसार मोहर सिंह और बाबूराम में दूर की रिश्तेदारी है और इसीलिए दोनों के बच्चों के बीच रिश्ता तय हुआ था.

इमेज कॉपीरइट EPA

पर शादी के दिन जब बरात कारेरामपुर पहुंची तो कन्या पक्ष ने आरोप लगाया की वर पक्ष ने फरेब किया है.

कन्या पक्ष ने आरोप लगाया कि शादी से पहले लवली को कोई और लड़का दिखाया गया था और शादी किसी दूसरे लड़के से कराई जा रही थी जो अनपढ़ था.

यादव के अनुसार लड़की की सहेलियों ने राम बरन से पूछ लिया कि 15 और 6 का कुल कितना होता है. राम बरन ने जवाब दिया 17.

तभी लवली ने शादी से मना कर दिया. विवाद बढ़ने पर मामला रसूलाबाद थाने पहुँच गया.

थाना प्रमुख ने कहा, "वर पक्ष ने अपनी ग़लती मान ली और बरात वापस चली गई."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार