टीम केजरीवाल का योगेंद्र-प्रशांत पर पलटवार

  • 27 मार्च 2015
प्रशांत भूषण और अरविंद केजरीवाल (फ़ाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट PTI

आम आदमी पार्टी ने योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के पार्टी पर लगाए गए आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा है कि दोनों नेता पार्टी कार्यकर्ताओं को गुमराह कर रहे हैं.

शुक्रवार को ही योगेंद्र और प्रशांत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. उन्होंने कहा था कि उनके पाँच मुद्दों पर चर्चा करने के बजाय ये प्रचारित किया जा रहा है कि दोनों नेताओं ने इस्तीफ़ा दे दिया है.

इमेज कॉपीरइट PTI

योगेंद्र और प्रशांत ने अरविंद केजरीवाल पर मनमानी का आरोप लगाते हुए पारदर्शिता, फ़ैसलों में कार्यकर्ताओं की भागीदारी समेत अपने पाँच मुद्दे दोहराए.

योगेंद्र और प्रशांत के आरोपों को जवाब देते हुए संजय सिंह ने कहा, "पिछले 10-12 दिनों से दोनों नेताओं से बातचीत चल रही थी, दोनों नेता इस बात पर राज़ी थे कि आरोप-प्रत्यारोपों से पार्टी की छवि को नुक़सान पहुंच रहा है."

योगेंद्र की माफ़ी!

इमेज कॉपीरइट

संजय ने दावा किया कि योगेंद्र ने पिछले दिनों के आरोप-प्रत्यारोपों पर एक माफ़ीनामा भी तैयार किया था. उन्होंने कहा, "योगेंद्र यादव ने माफ़ीनामा भी लिखा था."

यह पूछे जाने पर कि क्या माफ़ीनामा पर योगेंद्र के दस्तख़त हैं, संजय सिंह ने कहा, "ये योगेंद्र जी की ही हैंडराइटिंग में है, योगेंद्र जी इससे इनकार नहीं करेंगे."

इमेज कॉपीरइट PTI

आप के ही आशीष खेतान ने दोनों नेताओं पर पार्टी की बैठक में 'कुछ और' और बाहर 'कुछ और' बयान देने का आरोप लगाया.

खेतान ने कहा, "दोनों (प्रशांत और योगेंद्र) से बातचीत चल रही थी, फिर ऐसा क्या हुआ कि उन्होंने गुरुवार की शाम छह बजे कह दिया कि अरविंद केजरीवाल और हम लोगों पर उन्हें भरोसा नहीं है."

शनिवार को आप की राष्ट्रीय परिषद की बैठक है. बैठक में योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के आरोपों पर भी चर्चा होने की उम्मीद जताई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार