'जनता परिवार' में हुआ आरजेडी का विलय

lalu_prasad_yadav इमेज कॉपीरइट PRASHANT RAVI

बिहार की राजधानी पटना में राष्ट्रीय जनता दल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के 'जनता परिवार' में विलय करने का फ़ैसला किया गया.

हालांकि 'जनता परिवार' के नए नाम की अभी घोषणा नहीं की गई है. राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा कि इस फ़ैसले की औपचारिक घोषणा मुलायम सिंह यादव करेंगे.

'जनता परिवार' की प्रस्तावित पार्टी में जनता दल यूनाइटेड, राष्ट्रीय जनता दल और समाजवादी पार्टी एक साथ आ रहे हैं.

लालू प्रसाद यादव ने राष्ट्रीय जनता दल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद कहा कि 'विलय हो चुका है'.

उन्होंने यह भी कहा कि नई पार्टी की औपचारिक घोषणा मुलायम सिंह यादव करेंगे जो कि इन सभी कामों के लिए अधिकृत हैं.

नई पार्टी का नाम, झंडा और चुनाव चिन्ह क्या होगा, ये भी मुलायम सिंह यादव ही तय करेंगे.

बिहार में चेहरा कौन?

इमेज कॉपीरइट
Image caption पूर्व जनता परिवार से नई राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान कुछ दिन पहले ही हुआ था.

लालू ने नया नारा देते हुए कहा, "एक झंडा एक निशान, भाजपा को भगाने के लिए मांग रहा हिंदुस्तान."

लालू प्रसाद यादव ने यह साफ़ नहीं किया कि बिहार में नई पार्टी का नेता कौन होगा. उन्होंने कहा कि यह पार्टी बन जाने के बाद तय किया जाएगा.

उधर, बिहार में जदयू के बिहार प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने इस मुद्दे पर कहा कि सब लोग मिलकर तय करेंगे कि बिहार में पार्टी का नेता कौन होगा.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के बाग़ी नेता जीतन राम मांझी को नई पार्टी में शामिल करने के सवाल पर लालू ने कहा कि मैंने कभी भी उनके ख़िलाफ़ कुछ नहीं बोला है.

उन्होंने कहा, "वह भी धर्मनिरपेक्ष प्रजातांत्रिक नेता हैं. साथ आएंगे तो मिलकर काम करेंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार