सोनिया, मोदी गरीबी रेखा के नीचे!

नरेंद्र मोदी, सोनिया गाँधी इमेज कॉपीरइट PTI

महाराष्ट्र विधानसभा के बजट सत्र में भारतीय जनता पार्टी के विधायक पांडुरंग फुंडकर ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत कई बड़े नेताओं के जाली राशन कार्ड सदन में पेश कर खलबली मचा दी.

फुंडकर ने जाली राशन कार्ड के ज़रिए सरकारी सुविधाओं के गैरक़ानूनी इस्तेमाल का मामला सदन में उठाया था.

उन्होंने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस, खाद्य तथा नागरी आपूर्ती मंत्री गिरीष बापट, विधान सभा में नेता विपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटील तथा विधान परिषद में नेता विपक्ष धनंजय मुंडे के नाम के बोगस राशन कार्ड पेश किये.

गरीबी रेखा

इमेज कॉपीरइट BJP
Image caption विधायक पांडुरंग फुंडकर ने फ़र्ज़ी राशन कार्डों के ज़रिए जन योजनाओं में धांधली का मुद्दा उठाया है.

ग़ौर तलब है के यह सारे राशन कार्ड केसरिया रंग के है जो गरीबी रेखा के नीचे के लोगों को जारी किए जाते हैं.

इन राशन कार्डों पर दर्ज जानकारी के अनुसार यह सारे लोग विदर्भ के बुलढाना जिले के खामगांव तहसील के निवासी है और इनकी वार्षिक आय गरीबी रेखा के नीचे दिखाई गई है.

फुंडकर ने आरोप लगाया के इस तरह बोगस राशन कार्ड बनाकर जहाँ एक ओर गरीबों के लिए चलायी जानेवाली सरकारी योजनाओं का गलत इस्तेमाल हो रहा है, वहीं दूसरी ओर, इन राशन कार्डों के जरिये बोगस मतदाता तैयार करने का कारोबार भी ज़ोर शोर से चल रहा है.

इसपर खाद्य तथा नगर आपूर्ती मंत्री गिरीष बापट ने जाँच कर दोषी अधिकारियों को स्सपेंड करने की घोषणा की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार