80 दलित परिवार घर बचाने मुसलमान बनेंगे!

इमेज कॉपीरइट ATUL CHANDRA

उत्तर प्रदेश के रामपुर में लगभग 80 वाल्मीकि परिवारों ने धमकी दी है कि वो 14 अप्रेल यानी अंबेडकर जयंती के दिन या तो इस्लाम धर्म अपना लेंगे या फिर उनमें से कुछ आत्मदाह की कोशिश करेंगे.

उन्हें उम्मीद है कि धर्म परिवर्तन करने की बात करके वो उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री आज़म खान को मना लेंगे जिससे उनके 60 साल पुराने घरों को तोड़ कर सड़क चौड़ी करने का फ़ैसला निरस्त हो जाएगा. ये सड़क गांधी मॉल तक जाएगी.

आज़म खान के प्रवक्ता, मोहम्मद शानू ने कहा कि सरकारी ज़मीन से अनधिकृत कब्ज़ा हटवाया जा रहा है और इसमें धर्म या जाति के आधार पर किसी से भेदभाव नहीं किया जा रहा.

घरों को बचाने के लिए धर्म परिवर्तन

इस क्षेत्र के एक निवासी, राज वाल्मीकि कहते हैं कि अपने घरों को बचाने के लिए वे लोग धर्म परिवर्तन करेंगे.

एक अन्य निवासी अविनाश तपन कहते हैं कि वे लोग आत्मदाह भी कर सकते हैं "ताकि माननीय मंत्रीजी को दया आ जाए."

राज वाल्मीकि कहते है, "ज़ुल्म बर्दाश्त नहीं हो रहा है...हमारे पास और कोई रास्ता नहीं है."

क्या है मामला

इमेज कॉपीरइट ATUL CHANDRA

दरअसल, रामपुर के तोपखाने इलाके में रहने वाले इन वाल्मीकि परिवारों को रामपुर म्युनिसिपल बोर्ड ने घर खाली करने का आदेश दिया है ताकि गांधी मॉल की ख़ातिर सड़क चौड़ी की जा सके.

बोर्ड का मानना है कि ये वाल्मीकि लोग सरकारी ज़मीन पर अवैध कब्ज़ा करके रह रहे हैं जबकि वाल्मीकियों का कहना है कि उनके मकान पूरी तरह वैध हैं और वे गृह और पानी कर भी अदा कर रहे हैं.

उनका कहना है कि खुद बोर्ड ने उनके मकानों के लिए स्वीकृति दी थी और उनके पास सभी सबूत मौजूद हैं.

विरोध प्रदर्शन पर मुक़दमे?

6 अप्रैल को जब बोर्ड ने गिराए जाने वाले मकानों को चिन्हित किया तो वाल्मीकि समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया.

बदले में प्रशासन ने 86 लोगों के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया है, जिसमें 10 नामज़द हैं.

इनमें से एकलव्य वाल्मीकि के दो मोबाइल फ़ोन उसी दिन से बंद हैं जिस दिन से उनके ख़िलाफ़ रिपोर्ट दर्ज की गई.

मॉल में ख़ास रुचि

इमेज कॉपीरइट ATUL CHANDRA

कांग्रेस के नगर सचिव, फ़ैसल ख़ान लाला आरोप लगाते हैं कि मॉल में आज़म खान की विशेष रूचि है और वो नहीं चाहते कि उसके आस-पास ग़रीब और गंदगी दिखाई पड़ें.

लाला उस स्कूली छात्र के पक्ष में खड़े हुए थे जिसको आज़म खान ने फ़ेसबुक टिप्पणी के बाद जेल भिजवा दिया था और उसका खामियाज़ा भी भुगत रहे हैं.

प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी का कहना है कि उनका दल वाल्मीकियों को उजाड़े जाने का संसद से सड़क तक विरोध करेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार