हिसार में हड़प्पाकालीन कंकाल मिले

  • 15 अप्रैल 2015
पुरानी हड़प्पा सभ्यता से जुड़े मानव अवशेष इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

पुरातत्वविदों ने हरियाणा में विश्व की सबसे प्राचीन सभ्यता से जुड़े चार मानव कंकाल खोजने में सफलता पाई है.

क़रीब चार हज़ार वर्ष पुरानी हड़प्पा सभ्यता की खोज पहली बार ब्रितानी पुरातत्वविद् ने 1920 में पाकिस्तान के मोहनजोदड़ो में की थी.

इस सभ्यता से जुड़े मानव अवशेष अब हरियाणा में हिसार के पास एक कब्रिस्तान से मिले हैं. ये अवशेष दो वयस्क पुरुषों, एक महिला और बच्चे के हैं.

पुरातत्वविदों को उम्मीद है कि इस ताज़ा खोज से सबसे पुरातन मानव सभ्यता के बारे में कुछ और जानकारी मिल सकेगी.

इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

पिछले दो साल से भारत और दक्षिण कोरिया के पुरातत्वविद और वैज्ञानिक हरियाणा के हिसार में स्थित राखीगढ़ी गांव में नौ टीलों पर खुदाई कर रहे हैं.

इस खुदाई के सह-निदेशक नीलेश जाधव ने बीबीसी हिंदी को बताया कि इस से मिली चीजें सिंधु सभ्यता की जानकारी जुटाने में मील का पत्थर साबित होंगी.

उन्होंने बताया, “हमें चार कंकाल मिले, दो पुरुष, एक महिला और एक बच्चा. इसके साथ एक प्रतीकात्मक कब्र मिली है. कई छोटी-मोटी चीजें भी मिली हैं. बरतन हैं, चूड़ियां हैं.”

डीएनए टेस्ट

इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

जाधव के अनुसार, “इससे पता चलता है कि उस समय लोग क्या खाते थे. हम लोग इसका डीएनए टेस्ट भी करवा रहे हैं, जिसकी रिपोर्ट जुलाई या अगस्त तक मिल जाएगी.”

उन्होंने कहा, “ये पहली बार होगा कि खुदाई से मिले कंकालों पर डीएनए टेस्ट किया जाएगा और उससे पता चलेगा इस सभ्यता के लोग आखिर कैसे थे.”

मोहनजोदड़ो दुनिया का सबसे पुराना शहर है और हिंदू पूर्व सिंधु घाटी सभ्यता के समकक्ष है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार