गर्भवती को नहीं किया भर्ती, नवजात की मौत

जानकीलाल इमेज कॉपीरइट SURENDRA JAIN PARAS
Image caption महिला टीना के पति जानकीलाल (सबसे दाएं सफ़ेद शर्ट में) ने दर्ज कराई एफ़आईआर.

जयपुर में एक सरकारी अस्पताल में भर्ती किए जाने से मना करने के बाद ऑटो में ही उस गर्भवती महिला का प्रसव हो गया.

महिला ने एक नवजात को जन्म दिया, लेकिन इलाज के अभाव में उसकी मौत हो गई.

यह घटना जयपुर के सरकारी महिला अस्पताल की है. इस संबंध में महिला के पति जनकलाल ने पुलिस में एफ़आईआर दर्ज कराई है.

सिन्धी कैंप थाना स्थित सब इंस्पेक्टर भरत सिंह ने बीबीसी को बताया कि, "25 वर्षीया महिला टीना के पति जानकीलाल ने अपनी शिकायत में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर को बच्चे की मौत का ज़िम्मेदार ठहराया है."

प्रसव पीड़ा, फिर भी लौटाया

इमेज कॉपीरइट Getty

जानकीलाल लाखेरी के रहने वाले हैं और जयपुर में मज़दूरी का काम करते हैं.

जानकीलाल के मुताबिक़, "वो मंगलवार शाम जब पत्नी को अस्पताल ले गए तो डॉक्टर ने उन्हें एक महीने बाद आने को कहा. हालांकि उनकी पत्नी बार बार कह रही थीं कि उन्हें प्रसव पीड़ा हो रही है."

उन्होंने बताया कि यह उनकी चौथी संतान थी. टीना अभी अस्पताल में भर्ती हैं. बच्चे का पोस्टमार्टम होने से पहले ही दाह संस्कार कर दिया गया है.

जांच

इमेज कॉपीरइट SURENDRA JAIN PARAS
Image caption महिला के पति जानकीलाल ने ड्यूटी डॉक्टर को निलम्बित करने की मांग की है.

सब इंस्पेक्टर भरत सिंह ने कहा कि अस्पताल के चेक-अप टिकिट में 'प्रसव की ड्यू डेट' जून लिखी हुई है और डॉक्टर ने भर्ती होने की सलाह भी लिखी है.

पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है.

अस्पताल प्रशासन ने भी मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित कर दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार