मसर्रत आलम की गिरफ़्तार किया गया

सैयद अली शाह गिलानी इमेज कॉपीरइट PTI

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अलगाववादी नेता मसर्रत आलम को गिरफ़्तार कर लिया है.

कश्मीर के आईजी ने बीबीसी से इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि गिरफ़्तारी आज सुबह हुई है.

हुर्रियत कांफ्रेंस के नेता सैयद अली शाह गिलानी ने मसर्रत आलम की गिरफ्तारी के ख़िलाफ़ शनिवार को कश्मीर में बंद का आह्वान किया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

मसर्रत आलम को कल अदालत में पेश किया जाएगा.

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने ट्विट कर कहा है, "हम जानना चाहे हैं कि आलम और गिलानी को किन धाराओं के तहत गिरफ़्तार किया गया है. क्या उन्हें देशद्रोह या देश के ख़िलाफ़ युद्ध छेड़ने के लिए गिरफ़्तार किया गया है?"

समाचार एजेंसी एएफ़पी के मुताबिक़, राज्य के डीजी (पुलिस) के राजेंद्र ने बताया कि बट के ख़िलाफ़ ग़ैरक़ानूनी गतिविधियों में शामिल होने का मामला दर्ज किया गया था और उसी के तहत उनकी गिरफ़्तारी हुई है."

इमेज कॉपीरइट Haziq Qadri

हालांकि अभी सैयद अली शाह गिलानी को गिरफ़्तार नहीं किया गया है.

अधिकारियों के मुताबिक़, ज़रूरत पड़ने पर उन्हें भी गिरफ़्तार किया जा सकता है.

मसर्रत आलम ने अलगाववादियों की एक रैली में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाज़ी की थी. इस रैली में पाकिस्तान के झंडे भी फ़हराए गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार