भूमि बिल पर झूठा प्रचार हो रहा है: मोदी

  • 19 अप्रैल 2015
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशी दौरे से लौटकर, कांग्रेस की किसान रैली के ही दिन, दिल्ली में भाजपा सांसदों को संबोधित किया है और ग़रीबों के लिए चलाई जा रही सरकारी योजनाओं पर लंबा-चौड़ा भाषण दिया है.

भाजपा सासंदों को दिल्ली में संबोधित करते हुए मोदी ने यमन से भारतीयों को सुरक्षित भारत वापस लाने के अभियान के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह को भी सराहा है.

मोदी ने कहा, "मैं जनरल वीके सिंह को सैल्यूट करता हूँ. मीडिया आपकी तस्वीर दिखाए या ना दिखाए इसकी चिंता छोड़ दीजिए, जनता के दिलों में आपने (सुषमा-वीकी सिंह ने) जगह बना ली है."

नरेंद्र मोदी ने अपनी हाल ही की फ़्रांस, जर्मनी और कनाडा यात्राओं की उपलब्धियाँ भी गिनाईं.

उन्होंने कहा कि फ़्रांस भारत को परमाणु रिएक्टर भारत में ही बनाकर देगा जबकि कनाडा पांच साल तक परमाणु ईंधन उपलब्ध कराएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty

कांग्रेस रैली का जवाब

आज कांग्रेस भी दिल्ली के रामलीला मैदान में भूमि बिल के ख़िलाफ़ किसानों की रैली कर रही है. विपक्षी दल मोदी पर ग़रीब विरोधी होने का आरोप लगा रहे हैं.

मोदी ने कहा, "भूमि बिल पर विकृत मानसिकता वाले लोग झूठा प्रचार कर रहे हैं. कुछ लोगों ने तय किया है कि वे इस सरकार के बारे में कुछ भी अच्छा न बोलेंगे, न सुनेंगे और न कहेंगे."

मोदी ने कहा, "मैंने संसद में अपने पहले भाषण में ही कहा था कि ये सरकार ग़रीबों को समर्पित है. जब मैं सरकार के ग़रीबों को समर्पित होने की बात करता हूँ तो विकृत मानसिकता के लोगों कहते हैं कि मोदी भूमि बिल से ध्यान हटाने की कोशिश कर रहा है."

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कांग्रेस किसानों के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेर रही है.

मोदी ने कहा, "हमारा सपना है कि देश की आज़ादी के 75 साल होने पर देश में हर किसी के पास अपना घर हो. जिनके पास घर नहीं हैं, वो कौन लोग हैं? ये ग़रीब नहीं है क्या? क्या हम किसी टीवी चैनल के मालिक, अख़बार के मालिक या मुकेश अंबानी का घर बनाने की बात कर रहे हैं?"

अल्पसंख्यकों की बेटियां

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का हवाला देते हुए मोदी ने कहा कि, "बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अफ़सरों, सांसदों की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए नहीं है, बल्कि ग़रीबों की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए है."

मोदी ने कहा कि अल्पसंख्यकों की बेटियों में अशिक्षा की दर सबसे ज़्यादा है.

उन्होंने कहा, "अगर मेरे मुसलमान परिवार की बेटियां अशिक्षित हैं तो देश आगे नहीं बढ़ सकता. दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों की बेटियाँ अगर अशिक्षित हैं तो देश आगे नहीं बढ़ सकता."

इमेज कॉपीरइट zameenwapsi.com
Image caption कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी दिल्ली के रामलीला मैदान में किसानों की रैली कर रहे हैं.

राजनीति नहीं राष्ट्रनीति

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीति ने देश को तबाह किया है राष्ट्रनीति से ही देश का विकास हो सकता है. हमारी कारग़ुज़ारी को राजनीति के तराजू में नहीं राष्ट्रनीति के तराजू में तोली जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि चार लाख से अधिक लोग गैस सिलेंडर की सब्सिडी छोड़ चुके हैं जिससे 200 करोड़ रुपए की बचत होगी. यह पैसा सरकारी खजाने में नहीं बल्कि गरीबों को गैस उपलब्ध कराने के लिए दिया जाएगा. इससे पर्यावरण की भी रक्षा होगी.

मोदी ने जनधन योजना को सफल बताते हुए इसका श्रेय बैंक कर्मचारियों को दिया और कहा कि उनकी कोशिश गरीब को ताक़त देने की है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इस साल भारत के किसानों मौसम की मार झेल रहे हैं.

ग़रीबों को ताक़त

मोदी का कहना था कि जनधन योजना के तहत गरीबों ने 14 हज़ार रुपए बैंकों में जमा कराए और अब मनरेगा का पैसा सीधे गरीबों के खाते में जा रहा है.

उन्होंने कहा कि फसलों को हुए नुक़सान पर मुआवज़ा के नियमों में ढील दी गई है और मुआवजे की राशि डेढ़ गुना कर दी गई है. उन्होंने पार्टी के सांसदों को सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने का आह्वान किया.

मोदी ने यह भी कहा कि उनकी सरकार मनरेगा पर अधिक खर्च करेगी और सांसद ये सुनिश्चित करेंगे कि पैसा ग़रीबों तक पहुंचे.

मोदी ने कहा, "हम तो जीते ही ग़रीबों के लिए हैं. हम चाहते हैं कि गाँवों में रुपया ज़्यादा आए, ताकि गाँव की ख़रीद-शक्ति बढ़े."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)